नई दिल्ली: बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता इरफ़ान खान का निधन हो चुका है. मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में इरफान खान ने 54 साल की उम्र में अंतिम सांस ली. साल 2018 में ही उन्होंने दुनिया को कैंसर के बारे में जानकारी दी थी, लेकिन दो साल बाद ये जिंदगी से जारी इस जंग को इरफान हार गए. बता दें कि बीते मंगलवार को कोलन इंफेक्शन की शिकायत होने पर उन्हें मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. आइए जानते हैं क्या होता है कोलन इंफेक्शन और क्या हैं इसके लक्षण- Also Read - अमिताभ बच्चन ने शेयर की श्रीदेवी और इरफान खान के साथ फोटो, लिखा- ‘दोनों छोड़कर चले गए’

क्या होता है कोलन इंफेक्शन
हेल्थलाइन वेबसाइट के मुताबिक, कोलन इंफेक्शन को कोलाइटिस भी कहा जाता है. यह इन्फेक्शन बैक्टिरिया, वायरस से हो सकता है. इस इंफेक्शन से ग्रस्त व्यक्ति को दस्त, पेट में दर्द और बुखार जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है. कोलन इंफेक्शन होने के कई कारण हो सकते हैं. जिसमें इन्फेक्शन दूषित पानी के इस्तेमाल , साफ सफाई का ख्याल न रखना और कई बार खराब खाना शामिल है. Also Read - जब लॉर्ड्स में लगे विव रिचर्ड्स के पोस्टर को देख इरफान खान को हुआ था अलगाव का एहसास

कोलन इंफेक्शन के लक्षण
इस इंफेक्शन से पीड़ित व्यक्ति को पेट में मरोड़ के साथ दर्द की शिकायत हो सकती है. इसके साथ ही बुखार आना या दस्त लगना भी इसके लक्षण हैं. इस बीमारी में दस्त के साथ खून भी आता है. इसके अलावा मरीज का तेजी से वजन भी गिरने लगता है. बता दें कि कोलन इनफेक्शन में बड़ी आंत की सतह पर मौजूद कोशिकाएं डेड होने लगती हैं जो कि अल्सर का कारण बनता है. Also Read - कैंसर पीड़ित होने के बावजूद देश के लिए रखा था उपवास, कहीं इसी चीज़ ने तो नहीं ले ली इरफ़ान की जान

कई प्रकार का होता है कोलन इंफेक्शन

जानकारी के लिए बता दें कि कोलन इंफेक्शन कई प्रकार का होता है जैसे कि-

इंफ्लामेटरी बोवेल सिंड्रोम – आईबीडी पुरानी बीमारी का एक समूह है जो पाचन तंत्र की सूजन का कारण बनता है. दो मुख्य प्रकार के आईबीडी हैं – क्रोहन रोग और अल्सरेटिव कोलाइटिस.

इस्केमिक कोलाइटिस- जब कोलोन के एक हिस्से में रक्त का प्रवाह कम हो जाता है, तो यह इस्केमिक कोलाइटिस का कारण बन सकता है।

माइक्रोस्कोपिक कोलाइटिस- माइक्रोस्कोपिक कोलाइटिस लिम्फोसाइटों में वृद्धि के कारण होता है. यह कोलाइटिस केवल एक माइक्रोस्कोप के माध्यम से देखा जा सकता है.

दवाई से होने वाला कोलाइटिस- NSAIDS ड्रग्स की वजह से ऐसा होता है. ऐसे लोग जिन्होंने लंबे समय तक एनएसएआईडी ड्रग का इस्तेमाल किया है, उन्हें इस कोलाइटिस का खतरा रहता है.

कोलन इंफेक्शन से बचने के उपाय

इस इंफेक्शन से बचने के लिए जरूरी है कि आप अधिक से अधिक मात्रा में पानी का सेवन करें. इसके साथ ही अपनी डाइट में फाइबर युक्त भोजन का इस्तेमाल करें. इसके अलावा पेय पदार्थों का सेवन मौसम के अनुसार करें.