प्रयागराज: कुंभ मेला दुनियाभर के लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा और यही आकर्षण सिंगापुर से विशेषज्ञ डॉक्टरों को यहां खींच लाया. इन डॉक्टरों ने निःशुल्क सेवा देने के साथ ही पहली बार कुंभ मेले का भ्रमण किया.

Kumbh Mela 2019: इस दिन हैं कुंभ के आखिरी दो प्रमुख स्‍नान, आप भी लगाएं आस्‍था की डुबकी

झूंसी स्थित उल्टा किला के नीचे लगे शिविर में मरीजों को ओपीडी सेवाएं देने वाली कैंसर विशेषज्ञ डॉक्टर फेलीशिया तान ने कहा कि सिंगापुर की कुल आबादी 50 लाख की है और इससे भी अधिक लोगों को कुंभ मेले में देखकर आश्चर्य का ठिकाना नहीं रहा. स्पाइन और ब्रेन विशेषज्ञ डॉक्टर रॉय तान ने बताया कि हम पहली बार कुंभ मेले में आए और यह हमारे लिए शानदार अनुभव रहा. इस मेले के बारे में काफी कुछ सुना था और यहां आकर वैसा ही पाया. सिंगापुर के प्रतिष्ठित फेम सर्जरी ग्रुप से आए 17 लोगों के समूह में 7 विशेषज्ञ डॉक्टरों के अलावा 2 वॉलेंटियर्स और बाकी नर्स हैं. ‘द अल्टिमेट ट्रैवेलिंग कैंप’ के सहयोग से इन डॉक्टरों ने मेले में दो दिन में 600 लोगों को ओपीडी सेवाएं दीं.

चारधाम यात्रा 2019: कब खुलेंगे बद्रीनाथ धाम के कपाट, जानिए यहां का ऐतिहासिक महत्‍व

कुंभ में आए पहली बार
‘द अल्टिमेट ट्रैवेलिंग कैंप’ के मुख्य समन्वय अधिकारी वी. नटराजू ने बताया कि इससे पूर्व इन डॉक्टरों ने भारत में लेह, नुब्रा घाटी और ओड़िशा में निःशुल्क ओपीडी सेवाएं देने के लिए कैंप लगाया गया था और यह पहली बार है कि वे कुंभ मेले में आए. नटराजू ने बताया कि ये डॉक्टर निःशुल्क चिकित्सा सेवा देने के लिए साल में छह कैंप सिंगापुर से बाहर करते हैं. इस समूह में निजी और सार्वजनिक दोनों ही क्षेत्र के डॉक्टर शामिल हैं. (इनपुट एजेंसी)

धर्म की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.