Hydroxychloroquine: कोविड-19 विषाणु का मुकाबला करने के लिए लैक्टिफेरिन फोर्टे (Lactyferrin Forte) प्रभावी दवा साबित हो सकती है. लैक्टिफेरिन औषधीय गुणों को प्रदर्शित करने और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए जाना जाता है. मैड्रिड के अस्पताल में इस दवा से उपचार शुरू किया जा चुका है. चूंकि कोविड-19 विषाणु कमजोर प्रतिरक्षा वाले लोगों को लक्षित करता है, ऐसे में इस रोग के खिलाफ यह गुणकारी दवा बन सकती है. Also Read - पीएम कहते थे कि जो हवाई चप्पल पहनते हैं वे हवाई जहाज में चलेंगे, लेकिन कोरोना संकट के समय कहां चले गए थे: सोरेन

स्पेन की नैनो टेक्नोलॉजी में दिग्गज कंपनी सेसडर्मा लैबरोटरीज ने एक बयान में कहा कि मैड्रिड के इस्मा अस्पताल में लेक्टिफेरिन के साथ उपचार शुरू हो चुका है और मैड्रिड और वेलेंसिया के विभिन्न अस्पतालों में 300 रोगियों पर दवा का परीक्षण किया जाएगा. कोविड-19 विषाणु के खिलाफ दवा की भारी सफलता को देखते हुए, सेसडर्मा ने वैलेंसियन समुदाय के स्वास्थ्य प्राधिकरण के साथ एक आधिकारिक अनुबंध किया है. Also Read - School opening in Delhi: अरविंद केजरीवाल बोले- दिल्ली में अभी नहीं खुलेंगे स्कूल

सेसडर्मा लेबोरेटरीज के सीईओ और संस्थापक डॉ. गेब्रियल सेरानो सनमीग्ल ने कहा कि कंपनी जल्द ही इस संबंध में भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) से संपर्क करेगी और बताएगी कि 75 रोगियों को पूरी तरह से ठीक करने में कैसे सफलता मिली. सेसडर्मा आईसीएमआर को यह प्रस्ताव देगी कि लेक्टिफेरिन दवा की प्रभावशीलता सत्यापित करने के लिए वे अपना परीक्षण कर सकते हैं. इसके लिए सेसडर्मा 30 से 40 मरीजों के साथ आईसीएमआर को स्वैच्छिक सहयोग देने की पेशकश करेगी. Also Read - Diwali Bonus: लॉकडाउन के दौरान समय पर EMI चुकाने वालों को कैशबैक देगी सरकार, जानें क्या है पूरा मामला