नई दिल्‍ली: अगर आपको भी घिन आती है तो ये आपकी सेहत के लिए अच्‍छा है. एक नए शोध में ये बात सामने आई है. Also Read - बिहार के जूनियर डॉक्टर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर, इन मांगों पर अड़े, स्वास्थ्य सेवायें प्रभावित

शोध में कहा गया है कि घिन आना, कहीं न कहीं पेट खराब या पेट बीमार होने का डर या संकेत, मस्तिष्‍क को देता है. ये अच्‍छा ना लगने वाली भावना, सेहत के लिए अच्‍छी है. शोध में बताया गया कि घिनाने के मामले में महिलाएं, पुरुषों से आगे हैं. Also Read - लाल मिर्च, धनिया पाउडर, गरम मसाला... ये सब गधे की लीद से बनाकर बेचते थे, कहीं आपने भी तो नहीं खा लिए!

Want to get rid of smelly farts? Here’s how you can stop your farts from smelling so bad Also Read - बिना पेट वाली महिला: टॉयलेट क्लीनर पीया, डॉक्टर्स ने जान बचाने को पेट ही काट दिया, फिर...

ये शोध लंदन स्‍कूल ऑफ हाइजीन एंड ट्रापिकल मेडिसिन ने किया. प्रमुख शोधकर्ता और प्रोफेसर वेल कर्टिस ने कहा, ‘घिन आने वाली इस भावना से हम कहीं न कहीं बीमारियों से दूर रहते हैं. हम पहले ही अनहाइजीन चीजों के प्रति सुरक्षात्‍मक रवैया अपना लेते हैं. इस भावना से ही हम बीमार ना हों, इसलिए सारे उपाय अपनाते हैं.’

शोधकर्ताओं ने इस दौरान 2500 लोगों को ऑनलाइन स्‍टडी में शामिल किया. इनसे कहा गया कि वे स्थितियों को घिन आने की श्रेणी में रखें. लोगों ने 6 ऐसी कॉमन स्थितियों को चुना जिसमें उन्‍हें घिन आती. इस दौरान ये पाया गया कि महिलाएं ऐसी स्थितियों पर ज्‍यादा सक्रियता से घिन आने की प्रतिक्रिया दे रही थीं.

How to freshen smelly shoes? 8 ways to keep your favorite pair of shoes from stinking

जिन स्थितियों को लोगों ने घिन की केटेगरी में रखा उनमें खराब हाइजीन जैसे शरीर से बदबू, बिना फ्लश के टॉयलट, आउट ऑफ डेट का खाना आदि शामिल थे. इस शोध के नतीजों को रॉयल सोसायटी फिलॉसफिकल ट्रांसिक्‍शंस बी जर्नल में प्रकाशित किया गया है.