हमारी नाक से निकलने वाले गाढ़े पीले पदार्थ को हम तरह-तरह के नाम से जानते हैं. अंग्रेजी में इसे boogers या mucus कहा जता है. देशज अंदाज में इसे नकटी, पोटा जैसे नाम दिया जाता है. सामान्य बोलचाल में इसे नाक से निकलने वाली गंदगी कहा जाता है. लेकिन यह जानकर आप हैरान होंगे कि नए रिसर्च में यह गंदगी यानी mucus हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद साबित हुई है. Also Read - Health Tips: 35 की उम्र के बाद बनना चाहती हैं मां तो इन बातों का रखें खास ख्याल, जल्द मिलेगी खुशखबरी

Also Read - Parenting Tips: सर्दियों के मौसम में बच्चों को कभी ना खिलाएं ये चीजें, हो सकता है खतरनाक

क्या होता है boogers या mucus Also Read - Health Tips: सर्दियों के मौसम में जरूर करें अश्वगंधा की चाय का सेवन, यहां जानें इसे बनाने का तरीका

जब हम boogers या mucus के बारे में सोचते हैं तो सही मायने में हम नाक से निकलने वाले गाढ़े-पीले पदार्थ की बात करते हैं. लेकिन boogers या mucus केवल यही नहीं है. सच्चाई यह है कि mucus हमारे शरीर द्वारा प्रोड्यूस किया गया वो चिपचिपा पदार्थ होता है, जो हमें नुकसानदायक बैक्टेरिया या वायरस से हमें बचाता है. अगर किसी की नाक में mucus नहीं है और उसका नाक सूखा है तो उसको इंफेक्शन की चपेट में आने का खतरा ज्यादा रहता है.

महिलाओं में भी होता है sleep orgasm, जानिए क्या कहता है विज्ञान

अच्छे स्वास्थ्य के लिए क्यों जरूरी है mucus

वैज्ञानिकों के अनुसार mucus के कारण हमारा नाक ड्राई नहीं होता. इससे उसमें जरूरी आद्रता बनी रहती है. यही आद्रता हमें हवा में मौजूद धूल-कणों, बैक्टेरिया व वायरस और अन्य सूक्ष्म नुकसानदायक चीजों को सांस के जरिए फेंफड़े तक पहुंचने से रोकती है. नाक में mucus होने से ये सूक्ष्म चीजें वहीं पर चिपक जाती हैं और हमारे शरीर के भीतर नहीं पहुंचतीं. इस तरह ये mucus हमारे लिए एयर फिल्टर की तरह काम करता है. mucus इन चीजों को रोकने के बाद नाक में मौजूद सूक्ष्म बालों के जरिए इन्हें बाहर की तरफ धकेलता है. इसके बाद mucus सूखकर boogers यानी नकटी का रूप ले लेता है.

हमारा शरीर हर रोज एक लीटर booger प्रोड्यूस करता है. और अगर आप सर्दी-जुकाम से पीड़ित हैं तो यह मात्रा और बढ़ सकती है. हमारे शरीर के सभी अंग mucus प्रोड्यूस करते हैं. ये पेट और छोटी-बड़ी दोनों आंतों से भी निकलते हैं. जब हम बीमार होते हैं तो शरीर में मौजूद mucus गाढ़े की जगह पतले हो जाते हैं.