तिरुवनंतपुरम: केरल में निपाह वायरस की वजह से एक और व्‍यक्ति की मौत हो गई है. इसके साथ ही केरल में इस खतरनाक विषाणु से मरने वालों की संख्या बढ़कर 11 पहुंच गई है. Also Read - केरल में फैले निपाह के वायरस पर लगेगी लगाम, दवा तैयार करने में मिली सफलता

कोझिकोड जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ. जयश्री ई ने बताया कि मृतक की पहचान वी मूसा (61) के तौर पर हुई है. मूसा पिछले कुछ दिन से यहां के एक निजी अस्पताल में भर्ती थे. उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया था. Also Read - Nipah वायरस से बचने के सबसे सरल उपाय, इन 4 तरीकों को अपनाएं...

उन्होंने बताया कि करीब 160 नमूनों को जांच के लिये वायरोलॉजी संस्थान भेजा गया है और 13 मामलों में इस विषाणु की पुष्टि हुई है. जिनमें से 11 लोगों की मौत हो चुकी है. Also Read - Nipah वायरस: जानलेवा व‍िषाणु से जुड़ी वो अहम बातें, जो आपको जाननी ही चाहिए...

ये भी पढ़ें: Nipah वायरस: दिल्‍ली में हैं तो भी बिना धोए मत खाएं केले-खजूर, जानें क्‍यों…

मूसा के परिवार में यह चौथी मौत है. इससे पहले मूसा के बेटों मोहम्मद सलेह (28), मोहम्मद सादिक (26) और उनकी रिश्तेदार मरिअम्मा की मौत इसी वायरस की वजह से हो चुकी है.

राज्‍य सरकार के निर्देश
राज्य सरकार ने एक परामर्श जारी कर राज्य की यात्रा करने वाले सभी लोगों से चार जिलों- कोझिकोड, मलप्पुरम, वायनाड और कन्नूर की यात्रा से बचने का अनुरोध किया है. स्वास्थ्य सचिव राजीव सदानंदन ने कहा है कि केरल में किसी भी जगह यात्रा करना सुरक्षित है. यदि यात्री अतिरिक्त सतर्कता बरतना चाहते हैं तो वे इन चार जिलों की यात्रा से बच सकते हैं.

राज्य सरकार ने इस मसले पर विचार के लिये 25 मई को कोझिकोड में सर्वदलीय बैठक बुलायी है. इस संदर्भ में मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की और वायरस को लेकर राज्य सरकार द्वारा उठाये गये कदमों की समीक्षा की.
(भाषा से इनपुट )