लंदन: अजन्मे बच्चे व गर्भवती महिलाओं के लिए खुशखबरी है अब भावी माएं अपने गर्भस्थ शिशु की धड़कन को घर बैठे ही नाप सकती हैं. वैज्ञानिकों ने ऐसा सेंसर बनाया है जिसकी मदद से गर्भवती महिलाएं घर में ही बच्चे की दिल की धड़कनों का पता लगा सकती हैं. ब्रिटेन में ससेक्स विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने इस सेंसर को ईजाद किया है.

अब ब्रेस्ट कैंसर को पहचानना होगा आसान, ऐसे काम करेगी ये नई तकनीक

समय रहते मिलेगा इलाज

इसे एक बड़ी वैज्ञानिक उपलब्धि माना जा रहा है. इससे गर्भावस्था के दौरान जन्मजात विकारों का पता लगाया जा सकता है या किन्हीं जटिलताओं के कारण समयपूर्व प्रसव की आशंका के चलते तुरंत इलाज की जरूरत का पता लगाया जा सकता है. इस तकनीकी से समय रहते गर्भस्थ महिला व अजन्मे बच्चे को इलाज मिल सकेगा, जो गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्तचाप, मधुमेह, प्रीक्लैम्प्सिया और खून में शर्करा की अधिक मात्रा से पीड़ित होती हैं.

पिता के धूम्रपान करने से जन्म लेने वाली संतान हो सकती है प्रभावित, ऐसे करें बचाव

विभिन्न परेशानियों व जटिलताओं से गुजर रही गर्भवती महिलाओं को अपने बच्चे के स्वास्थ्य पर नियमित तौर पर चिकित्सीय निगरानी की जरूरत होती है. विश्वविद्यालय में व्याख्याता एलिजाबेथ रेंडन मोराल्स ने कहा, ‘अभी स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों से जूझ रही गर्भवती महिलाओं को अपने बच्चे की धड़कन की जांच कराने के लिए अस्पताल जाना पड़ता है. लेकिन इस नई तकनीक से वे घर बैठे ही धड़कन नाप सकेंगी जो मां और बच्चे दोनों की सेहत के लिए अच्छा है.’(इनपुट एजेंसी)