COVID-19: अब सरसों तेल के इस्तेमाल से दूर भागेगा कोरोना वायरस !

पुलिसकर्मियों को अपने विभिन्न दैनिक उपयोगों में सरसों के तेल का इस्तेमाल बढ़ाने के लिए कहा गया है-

Updated: June 25, 2020 7:29 AM IST

By India.com Hindi News Desk | Edited by Deepika Negi

Health Benefits of Mustard Oil 8

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी पुलिस आयुक्तालय के अधिकारियों को दैनिक उपभोग व भोजन में कच्चे सरसों के तेल का इस्तेमाल करने का निर्देश दिया गया है, क्योंकि इसे एक शीर्ष अधिकारी ने कोविड-19 (कोरोनावायरस) महामारी से लड़ने के लिए एक नया हथियार बताया है. पुलिसकर्मियों को अपने विभिन्न दैनिक उपयोगों में सरसों के तेल का इस्तेमाल बढ़ाने के लिए कहा गया है – जैसे कि घर से बाहर निकलने से पहले सरसों तेल को नथुने में डालें, इसे लइया, आलू चोखा (मसालेदार मसला हुआ आलू) और सलाद में मिलाएं और टिफिन, दोपहर का भोजन या पुलिस कैंटीन में रात के खाने में इस्तेमाल करें.

Also Read:

सिलीगुड़ी के पुलिस आयुक्त त्रिपुरारी अथर्व द्वारा जारी एक निर्देश में सभी अधिकारियों से कहा गया है कि कोरोनावायरस से लड़ने के लिए वे अपने भोजन में कच्चा सरसों तेल का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें. सिलीगुड़ी के उपायुक्त (मुख्यालय) नीमा नोरबू भाटिया ने कहा, “यह निर्देश सिलीगुड़ी पुलिस आयुक्तालय क्षेत्र में पुलिसकर्मियों की स्वास्थ्य स्थिति को ध्यान में रखते हुए जारी किया गया है. यह हमारे फ्रंटलाइन कोविड वारियर की सुरक्षा के लिए है. यह वास्तव में प्रभावी उपाय साबित हो रहा है.”

सूत्रों ने कहा कि निर्देश सिलीगुड़ी आयुक्तालय क्षेत्र के अंतर्गत सभी पुलिस स्टेशनों के बीच सर्कुलेट किया गया है. इसमें कहा गया है कि कोविड-19 महामारी की स्थिति में कच्चे सरसों के तेल का सेवन स्वास्थ्य के लिए अच्छा है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें हेल्थ समाचार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: June 25, 2020 7:22 AM IST

Updated Date: June 25, 2020 7:29 AM IST