Sex in Water: फिल्मों में बारिश में रोमांस देख आप भी रोमांचित होते हैं. बाथटब में सेक्स करते हैं. कभी स्विमिंग पूल में भी सेक्स का मज़ा लेते हैं. आपको ये करने में भी भले ही बेहद मज़ेदार लगता होगा, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि पानी में सेक्स करना खतरनाक भी हो सकता है. रियल लाइफ में पानी में सेक्स करना आपको मुश्किल में डाल सकता है.

इंफेक्शन का खतरा
पानी में सेक्स करने से इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है. आप अगर समंदर में ऐसा करते हैं तो वो पानी बेहद खारा होता है, जो ठीक नहीं होता है. स्विमिंग पूल के पानी में केमिकल आदि मिले होते हैं, जबकि बाथटब कितना भी साफ़ क्यों न हो उसमें जर्म्स होते ही होते हैं. ऐसे में प्राइवेट पार्ट्स में उससे इंफेक्शन हो सकता है. खासकर महिलाओं को इंफेक्शन का खतरा अधिक रहता है. अगर आप इंटरकोर्स करते हैं तो ये जर्म्स, केमिकल्स और खराब बैक्टीरिया वजाइना के रास्ते शरीर के अंदर प्रवेश कर सकते हैं.

पार्टनर के साथ बिताए गए अच्छे पल आपके दैनिक जीवन के काम को बनाते हैं बेहतर, जानें कैसे…

न चाहते हुए भी हो सकती हैं प्रेग्नेंसी
अगर आप कंडोम (Condom) भी लगाते हैं तब भी पार्टनर के प्रेग्नेंट (Pregnant) होने का खतरा रहता है. पानी में कंडोम के फटने के चांस ज़्यादा होते हैं. अगर आप वजाइना (Vegina) की बजाय पानी में डिस्चार्ज होते हैं तब भी प्रेग्नेंसी हो सकती है. पानी में घुलकर स्पर्म वजाइना में पहुँच सकता है.

पानी में होते हुए भी ड्राई होने की दिक्कत
आप सोचते हैं कि पानी में होने से सूखेपन की क्या ही समस्या होगी तो आप गलत हैं. पानी प्राइवेट पार्ट्स से निकलते वाले प्राकृतिक लुब्रीकेंट (Natural Lubricants) को ख़त्म कर देता है. ऐसे में प्राइवेट पार्ट्स की स्किन ड्राई हो जाती है. इससे सेक्स (Sex) करने में समस्या आ सकती है. कई बार ये खतरनाक और दर्दनाक भी हो जाता है.

ROUGH SEX के बाद ऐसे रखें अपने प्राइवेट पार्ट का ख्याल, ये हैं खास टिप्स

वजाइना में हो सकता है यीस्ट इन्फेक्शन
पानी में मौजूद क्लोरी वजाइना के पीएच के स्तर को गड़बड़ा सकता है. अगर ऐसा हुआ तो महिला यीस्ट इन्फेक्शन की चपेट में आ सकती है. ऐसे में ये सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है.

चुनें सही कंडोम
पानी में सेक्स के दौरान हमेशा सटीक कंडोम का प्रयोग करें. अच्छी कंपनी का कंडोम लें. पानी कंडोम चिकनाहट कम तो करता है लेकिन कुछ खतरा तो कम कर ही सकता है. इसके साथ ही चिकनाहट के लिए सिलिकॉन बेस्ड लुब्रीकेंट इस्तेमाल कर सकते हैं.