AQCH Medicine Clinical Trial: दवा बनाने वाली कंपनी सन फार्मास्युटिकल्स इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को कहा कि उसने कोविड-19 मरीजों के संभावित इलाज के लिये पौधे से उत्पन्न औषधि एक्यूसीएच के असर का पता लगाने को लेकर दूसरे चरण का क्लिनिकल परीक्षण शुरू किया है. सन फार्मा ने एक बयान में कहा कि कंपनी को औषधि महानियंत्रक से इस साल अप्रैल में पौधै से प्राप्त औषधीय गुण वाले पदार्थ से तैयार दवा के परीक्षण की अनुमति मिल गई.Also Read - Coronavirus cases In India: 1 दिन में कोरोना से लगभग 43 हजार लोग हुए संक्रमित, 533 लोगों की हुई मौत

कंपनी ने कहा, ‘‘क्लिनिकल परीक्षण देश के 12 केंद्रों पर 210 मरीजों के बीच किया जाएगा. इसमें मरीजों के लिए इलाज अवधि 10 दिन होगी. क्लिनिकल परीक्षण का परिणाम अक्टूबर 2020 तक आने की उम्मीद है.’’ सन फार्मा ने कहा कि एक्यूसीएच का मानव पर सुरक्षा अध्ययन पूरा हो गया और इस औषधि को दूसरे चरण के परीक्षण के लिए सुरक्षित पाया गया है. Also Read - पति की अंतिम इच्छा पूरी करने के लिए महिला ने 1 करोड़ रुपए का मंदिर में किया गुप्‍त दान, कोरोना से हुई थी मौत

कंपनी के अनुसार एक्यूसीएच का विकास डेंगू के लिए किया जा रहा है और इसमें नियंत्रित वातावरण में जीवों पर किए गए अध्ययन के दौरान विषाणु निरोधक प्रभाव पाए गये हैं. इसीलिए इसका परीक्षण कोविड-19 के इलाज के विकल्प के रूप में किया जा रहा है. Also Read - ब्रिटेन ने रेड लिस्ट से भारत के नाम को हटाया, अब यात्रियों को कोरोना प्रतिबंधों में मिलेगी ढील, जानें नियम