नई दिल्‍ली: प्रेग्‍नेंट महिलाओं को अक्‍सर पेट दर्द की शिकायत रहती है. हालांकि शुरुआती दौर में वे इस समस्‍या से डर जाती हैं पर इस दर्द के कई कारण हो सकते हैं.

डॉक्‍टर्स कहते हैं कि प्रेगनेंसी के शुरुआती दौर में भारीपन और कब्‍ज की वजह से ये दर्द उठता है. ये एक आम समस्‍या है.

गर्भवती महिलाओं को पड़ रहे अधिक दिल के दौरे, जानें क्या है वजह…

pregnant-women-1

क्‍यों होता है दर्द
दरअसल गर्भावस्था में गर्भाशय का आकार बढ़ता है. ऐसे में पेट में दर्द की शिकायत होती है. पर ये दर्द सहन करने लायक होता है. ज्‍यादातर मामलों में डॉक्‍टर दवाएं नहीं देते. पर जब ये दर्द बर्दाश्‍त के बाहर हो जाता है तो चिंता की बात होती है. खासकतौर पर ये दर्द दूसरी या तीसरी तीमाही के दौरान उठे.

मॉर्डन लाइफस्टाइल की ये बीमारी बन सकती है प्रेगनेंसी के लिए बड़ा खतरा

pregnant-women

कब होता है खतरा
अगर ये दर्द प्रेगनेंसी के दूसरे और तीसरे तिमाही में हो तो इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए. कई बार ये प्रीटर्म लेबम का लक्षण होता है.

डिलीवरी के बाद नहीं होगा ज्यादा रक्तस्राव, इस दवा से बचेगी महिलाओं की जान: WHO

प्रेग्‍नेंसी के शुरुआत में अगर पेटदर्द पीरियड्स के दौरान होनेवाले दर्द जैसा है और साथ में ब्लीडिंग हो रही हो तो ये गर्भपात का लक्षण हो सकता है. अगर पेट दर्द देर तक बना रहे, धीरे-धीरे तेज हो रहा हो तो उसे बिल्‍कुल इग्‍नोर ना करें.

हेल्थ की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.