मौसम बदलने के साथ ही हमारी दिनचर्या भी अस्त व्यस्त हो जाती है। खासतौर पर सर्दियों के मौसम में । रुटीन बिगड़ जाने से वैसे तो कई समस्याएं होती है लेकिन एक जो प्रमुख समस्या होती है वो है वजन का तेजी से बढ़ना। आइये जानते हैं कि वे कौन सी वजह हैं जिनके कारण आपका ठंड के मौसम में तेजी से बढ़ता है वजन

आवश्यकता से अधिक नींद
सर्दियों में रातें लबीं होती है और दिन छोटे इसलिए व्यक्ति औसत नींद से ज्यादा सोने लगता है। ज्यादा नींद की वजह से भोजन का पचन सही तरीके से नहीं हो पाता और वजन बढ़ने की शिकायत हो जाती है।

फिजिकल एक्टिविटी का कम होना
ठंड में सुबह आलस की वजह से देर से उठ पाते हैं और ठंड में बहर निकलने से लोग कतराते हैं। इस वजह से फिजिकल एक्टिविटी, वर्कआउट और जिम करना कम हो जाता है। इस वजह से आपका मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाता है। मेटाबॉलिज्म धीमा हो जाने से शरीर में फैट जमा होने लगता है और वजन तेजी से बढ़ने लगता है।

पानी कम पीना
सर्दियों के मौसम में पानी पीना भी कम हो जाता है जबकि हम खाना ज्यादा खाने लगते हैं इस वजह से भी वजन बढ़ने लगता है। यह भी पढ़ें: इन एक्सरसाइज से 12 मिनट में घर पर ही पाएं जिम जैसी मजबूत बॉडी

हाई कैलोरी फूड
सर्दी के मौसम में मीठा, तल हुआ और चटपटा खाने की इच्छा तीव्र हो जाती है। ऐसे भोजन में कैलोरी की मात्रा ज्यादा होती है और इन्हें खाने से वजन बढ़ने लगता है।

ऐसे रखें वजन को नियंत्रित
अपने डेली रुटीन को मेंटेन रखें और जब समय मिले व्यायाम करें और टहलने जाएं। खाने में हरी पत्तेदार सब्जियों का इस्तेमाल करें और हाई कैलोरी फूड से बचें। चाय में फुल क्रीम दूध की जगह टोन्ड दूध इस्तेमाल करें या ग्रीन टी पिएं। सोने से एक घंटे पहले खाना खा लें। इस तरह से आप सर्दी के मौसम में भी फिच रह सकेंगे