नई दिल्‍ली: नियमित रूप से गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करने वाली महिलाओं को चेहरे के बारीक हाव-भाव को पहचानने में परेशानी होती है. इसका असर उनके नजदीकी रिश्‍ते पर भी पड़ सकता है. Also Read - Kumbh 2021: कुंभ के मुख्य पर्वों पर हरिद्वार आने वाली महिलाओं को मिलेगी निशुल्क यात्रा की सुविधा

Also Read - Holi precautions For Pregnant Ladies: कोरोना काल में होली मनाते समय प्रेगनेंट महिलाएं इन बातों का रखें खास ख्याल, नहीं होगी कोई परेशानी

गर्भस्थ शिशु को सेरेब्रल पैल्सी का शिकार बनने से बचाएं, जानिए इसका कारण और कैसे रखें ख्‍याल Also Read - Sugarcane Juice In Pregnancy: प्रेगनेंसी में गन्ने का जूस पीने से पहले जान लें ये बातें, वरना...

ग्रिफस्‍वाल्‍ड विश्‍वविद्यालय, जर्मनी के शोधकर्ताओं की ओर से किए गए रिसर्च में यह बात सामने आई है. फ्रंटियर्स इन न्‍यूरोसाइंस नाम की पत्रिका में छपी इस रिपोर्ट के अनुसार, पिल्‍स का इस्‍तेमाल करने वाली महिलाओं को इस तरह के हावभाव को समझने में इनका इस्‍तेमाल नहीं करने वाली महिलाओं की तुलना में 10 प्रतिशत ज्‍यादा दिक्‍कत होती है.

Health Alerts: गर्भधारण से बढ़ता है दिल की बीमारी का खतरा, Research का दावा

दुनिया भर में 10 करोड़ से ज्‍यादा महिलाएं गर्भनिरोधक गोलियों का इस्‍तेमाल करती हैं, पर इससे होने वाले नुकसानों के बारे में आज भी जानकारी का अभाव है.

लाइफस्टाइल की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.