नई दिल्‍ली: लीवर से संबंधित किसी भी बीमारी को ठीक करने में खानपान अहम भूमिका निभाता है. ऐसी ही बीमारियों में से एक हेपेटाइटिस. Also Read - अमिताभ बच्‍चन की तबियत खराब, तीन दिनों से हॉस्‍पिटल में है भर्ती, किसी को भनक तक नहीं लगी

Also Read - Liver की बीमारियों से बचना है तो लगवाएं ये टीका, जीवनशैली में लाएं ये बदलाव...

हेपेटाइटिस लीवर की सूजन से संबंधत बीमारी है. ये आमतौर पर वायरस के कारण होती है. एंटीवायरल दवाइयों की मदद से इसका इलाज किया जाता है. अगर आप इस बीमारी की जद में हैं या परिवार का कोई अन्‍य व्‍यक्ति है तो जल्दी ठीक होने के लिए दवाओं के अलावा अच्छे आहार को खाना जरूरी होता है. Also Read - लिवर कैंसर के खतरे को कम करने में मददगार है एस्पिरिन: रिपोर्ट

पर आज हम आपको कुछ घरेलू उपचारों के बारे में भी बता रहे हैं.

World Hepatitis Day 28 July 2018: मानसून में कई गुना ज्‍यादा होता है हेपेटाइटिस का खतरा, सूज जाता है लीवर…

घरेलू उपचार

– हरे धनिये को बारीक काट लें. 8 से 10 तुलसी के पत्ते तोड़ लें. अब करीब 4 लीटर पानी में उबालें, जब तक पानी 1 लीटर ना रह जाए. इसे ठंडा कर लें और दिन में 2 से 3 बार रोगी को पिलाएं.

– तुलसी के पत्ते का पेस्ट बना लें. गन्ने के रस में मिलाकर रोगी को पिलाने से लाभ होता है. 15 से 20 दिनों तक इसे लेने से हेपेटाइटिस सी के इलाज में मदद मिलती है.

– शहद के साथ जरा सा कपूर मिलाकर रोगी का खिलाना फायदेमंद माना जाता है. लेकिन कपूर की मात्रा गेहूं के दाने बराबर ही हो, इस बात का विशेष ध्यान रखें.

– डाइट में नींबू, छुहारे, इलायची, बादाम, किशमिश, आंवला, पालक, टमाटर के अलावा कई तरह के फलों को शामिल करें.

– तुलसी के पत्ते को पीसकर मूली के रस के साथ लेने से भी लाभ होता है.

– फास्ट फूड एवं जंक फूड से बचें. घर का बना हल्‍का सुपाच्‍य भोजन करें.

पर इन नुस्‍खों को इस्‍तेमाल करने से पहले डॉक्‍टरी परामर्श लेना चाहिए. खानपान में क्‍या बदलाव करने चाहिए, ये भी जानें.

World Hepatitis Day 28 July 2018: Male Fertility को बेहद कम कर सकती है ये बीमारी, आप गिरफ्त में तो नहीं?

ये चीजें खानी चाहिए-

– फाइबर से भरे, पौष्टिक साबुत अनाज को आहार में शामिल करें. ये पाचन के लिए भी बहुत अच्छे होते हैं.

– लीवर की बीमारी से राहत के लिए फल और सब्जियों का खूब सेवन करें. ये आवश्यक पोषक तत्वों से भरे होते हैं और आसानी से पच जाते हैं. इसके अलावा वे एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर हैं, जो लीवर की कोशिकाओं को नुकसान से बचा सकते हैं.

– ऑलिव ऑयल, कैनोला ऑयल में हेल्दी फैट होते हैं. हेपेटाइटिस के रोगियों को इनके सेवन की सलाह दी जाती है.

– लो-फैट मिल्क और डेयरी उत्पाद का सेवन कर सकते हैं.

– हेल्दी प्रोटिन्स जैसे लीन मीट, बीन्स, अंडे और सोया से बने उत्पाद हेल्दी लीवर डायट का हिस्सा हैं.

क्‍या ना खाएं

– सैचुरेटेड और ट्रांस फैट जैसे रेड मीट, बेक किए हुए उत्पाद, होल-मिल्क और पनीर, मक्खन व क्रीम, तली हुई चीजें व जंक फूड से दूर रहें.

– शराब लीवर के कार्यों को प्रभावित कर सकता है और उस पर दबाव डाल सकता है.

– बिना डॉक्‍टर की सलाह के कुछ ना खाएं. विटामिन सप्लीमेंट्स भी ना लें.

– प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थों से बचें. ये लीवर के लिए मुश्किलें पैदा करता है और इसमें पोषक तत्व भी नहीं होते. प्रोसेस्ड ब्रेड, चीज और लगभग सभी तरह के फास्ट फूड आइटम इसमें शामिल हैं.

हेल्थ की और खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.