नई दिल्लीः हम अपनी जिंदगी में बहुत सी बीमारियों को फेस करते हैं, लेकिन ज्यादातर हमारा ध्यान सिर्फ शारीरिक बीमारियों की ही तरफ जाता है. एक शोध में यह बात सामने आई है कि एक सामान्य बीमारी से ज्यादा मानसिक बीमारी व्यक्ति को कमजोर बनाती है. मानसिक बीमारियों के प्रति लोगों को जागरूक बनाने के लिए आज यानि 10 अक्टूबर को दुनिया World Mental Health Day मनाया जाता है. Also Read - WHO On Covid Explosion In India: भारत में क्यों हुआ कोरोना विस्फोट? WHO की शीर्ष वैज्ञानिक ने बताई इसके पीछे की असली वजह

Also Read - एक और Covid टीके को मिली WHO की मंजूरी, दो चीनी वैक्सीन को भी मिल सकती है इस्तेमाल की इजाजत

इस दिन को मनाने का एकमात्र उद्देश्य यह है कि लोगों को मानसिक बीमारियों की चपेट से बचाया जा सके और इसके दस्परिणामों से भी अवगत कराया जा सके. इस भाग दौड़ भरी लाइफ में वयक्ति में बहुत तरह की मानसिक परेशानियां होती हैं जो कभी कभी जीवन में बहुत गहरा प्रभाव डालती हैं. हमने बहुत से ऐसे केस देखें होंगे जिनमें कई लोगों ने मानसिक परेशानियों के चलते सुसाइड तक कर लिया है. आपको बता दें इस बार वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे का थीम ‘सुइसाइड प्रिवेंशन यानी आत्महत्या की रोकथाम’ है. Also Read - Medical Oxygen: Video में जानिए भारत में मेडिकल ऑक्सीजन क्यों है जरूरी, कहां पर हैं अड़चनें

World Heart Day: ‘तकनीकी क्रांति’ से इस बीमारी को मात देने की कोशिश में हैं डॉक्टर्स, इलाज बना सरल

WHO की एक रिपोर्ट के अनुसार हर 40 सेकेंण्ड में एक व्यक्ति आत्महत्तया करता है इस लिहाज से एक साल में लगभग 8 लाख लोग सुसाइड करते हैं. आत्महत्या करना बीमारी नहीं है बल्कि इसके पीछे मानसिक बीमारी, डिप्रेशन, ऐंग्जाइटी कई ऐसे कारण होते हैं जो व्यक्ति को ऐसा कड़ा कदम उठाने के लिए मजबूर कर देते हैं. इस बात को ध्यान में रखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने यह निर्णय लिये कि आज के दिन हम इस बात पर फोकस करेंगे कि किस प्रकार से आत्महत्या को रोका जा सकता है.

अब तक हुई शोधों पर ध्यान दें तो यह पता चलता है कि 35 वर्ष से कम के युवाओं के बीच में आत्महत्या की घटनाएं ज्यादा देखने को मिलती हैं. अगर हम अपनी दिनचर्या पर थोड़ा सा ध्यान दें तो मानसिक बीमारी से बचा जा सकता है. अगर किसी में निम्नलिखित गुण पाए जाते हैं तो यह समझा जा सकता है कि वह किसी न किसी प्रकार की मानसिक बीमारी से ग्रसित है.

1- मेमोरी का कमजोर होना

2- छोटी-छोटी बात पर गुस्सा होना

3- डर लगना

4- अकेले रहना और लोगों से दूरी बनाना

5- बंद कमरे में ज्यादा देर समय गुजारना

6- हेल्दी डाइट न लेना

ऐसे बच सकते हैं मानसिक तनाव से

1- अपने भोजन में प्रोटीन, विटमिन्स और कार्बोहाइड्रेट्स का ज्यादा सेवन करना

2- ट्रिप में जाना और पार्टी एन्ज्वाय करना

3- 7-8 घंटे की पूरी नींद लेना

4- लाइफ में हर एक बात को सकारात्मक पहलू से देखना

5- समय समय पर अपना चेक अप कराते रहना

6- मार्निंग के समय पार्क या छत में लगभग 30 मिनट टहले.