मुंबई: कोविड-19 के कारण देश भर में जारी लॉकडाउन के कारण घर से काम करते हुए तीन में से एक भारतीय ने हर महीने औसतन 3000 से 5000 रुपये बचाए. एक सर्वे में मंगलवार को कहा गया है कि घर से काम करते हुए लोगों ने आने-जाने, कपड़े, खाने और कई अन्य मदों में पैसे बचाए. Also Read - पीएम मोदी कोरोना के हालात पर 23 सितंबर को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से करेंगे बातचीत! क्या फिर से लगेगा लॉकडाउन?

ऑनलाइन सर्वे में शामिल 74 फीसदी लोगों ने कहा कि वे घर से काम करने के लिए तैयार हैं, जबकि 80 फीसदी का मानना था कि उनका जॉब रोल घर से काम करने के लिए उपयुक्त है. यह सर्वे भारत के सबसे बड़े होमग्रोन फ्लेक्स वर्कप्लेस प्रोवाइडर-ऑफिस से ने कराया है. Also Read - IPL 2020: स्टेडियम के अंदर नहीं होगी मीडियाकर्मियों की एंट्री, दर्शक भी होंगे नदारद, जानिए पूरी डिटेल

यह सर्वे दो महीने (जून और जुलाई) के दौरान लोगों की राय पर आधारित है और इसमें सात मेट्रो शहरों के साथ-साथ डाइवर्स इंडस्ट्रीज के 1000 से अधिक इम्प्लाइज को शामिल किया गया है. Also Read - Food Tips: स्ट्रेस कम करने के लिए इन फूड्स को कहे 'ना', जानें इनके हेल्दी ऑप्शन्स के बारे में

सर्वे के मुताबिक 47 फीसदी लोगों ने कहा कि घर से काम करने के दौरान उन्हें आरामदेह कुर्सी और मेज की कमी महसूस हुई, जबकि 71 फीसदी का मानना था कि अगर घर में काम करने की अलग जगह हो तो वो घर से काम करते हुए सफल हो सकते हैं.

करीब 60 फीसदी कर्मचारियों ने कहा कि माना कि उन्हें नियमित तौर पर ऑफिस जाने में औसतन एक घंटा लगता था. इस आधार पर घर से काम करते हुए एक कर्मचारी ने एक दिन में 1.47 घंटे का समय बचाया. इससे उसे एक साल में काम के 44 अतिरिक्त दिन मिले.