नई दिल्‍ली: गोवा में बीते बुधवार की रात को तेजी से घटे राजनीतिक घटनाक्रम में कांग्रेस के 10 विधायक बीजेपी के साथ आ गए थे. इसके बाद गुरुवार को दिल्‍ली में बीजेपी के राष्‍ट्रीय मुख्‍यालय में ये विधायक विधिवत और आधिकारिक रूप से भाजपा में शामिल हो गए. कांग्रेस को तोड़कर आए इन विधायकों को भाजपा के कार्यकारी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा की मौजूदगी में पार्टी की सदस्‍यता दिलाई गई. इस विधायकों को गोवा से लेकर मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत नई दिल्‍ली पहुंचे थे. कांग्रेस से टूटे इन 10 विधायकों की भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से भी मुलाकात होना है.

गोवा में बुधवार को सीएम सावंत ने बताया कि वह भाजपा में आए 10 विधायकों के साथ रात को दिल्ली पहुंचे. उन्होंने कहा, मैं सभी 10 विधायकों के साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा से मुलाकात करुंगा. बता दें कि राज्य में 2017 के विधानसभा चुनाव के बाद सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी कांग्रेस के विधायकों की संख्या अब पांच तक सिमट गई है.

गोवा में कांग्रेस के 15 में से 5 विधायक ही बचे
गोवा में नेता विपक्ष चन्द्रकांत कावलेकर के नेतृत्व में कांग्रेस के दो-तिहाई (15 में से 10) विधायकों का एक समूह बुधवार को सत्तारूढ़ भाजपा में भाजपा में शामिल हो गया. अब 40 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी के 27 विधायक हो गए हैं. कांग्रेस 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी. अब उसके विधायकों की संख्या केवल पांच रह गई है. गोवा में 15 जुलाई से विधानसभा का मानसून सत्र आरंभ हो रहा है.

चिदंबरम ने कर्नाटक और गोवा के राजनीतिक घटनाक्रम की निंदा की
वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कर्नाटक और गोवा के राजनीतिक घटनाक्रम की निंदा करते हुए राज्यसभा में कहा कि इनका भारतीय अर्थव्यवस्था पर नुकसानदेह प्रभाव पड़ेगा. चिदंबरम ने आम बजट पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि पिछले दो दिनों में लोकतंत्र को काफी नुकसान पहुंचाया गया है. कर्नाटक और गोवा की घटनाओं से लोकतंत्र को हुए नुकसान से काफी दुखी हूं. अंतरराष्ट्रीय संगठन भारतीय मीडिया को देखकर अपनी धारणा नहीं बनाते हैं. ऐसी घटनाओं से विदेशी निवेशकों के साथ ही रेटिंग एजेंसियां प्रभावित होंगी.

कांग्रेस ने चेल्लाकुमार को भेजा था गोवा
कांग्रेस के दस विधायकों के भाजपा में शामिल होने से स्तब्ध, पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने सीनियर नेता ए चेल्लाकुमार को गोवा में स्थिति का जायजा लेने के लिए भेजा था. कांग्रेस के सचिव एवं पार्टी के गोवा मामलों के प्रभारी चेल्लाकुमार बुधवार की रात यहां पहुंचे और आगे की कार्रवाई तय करने के लिए पार्टी के शेष पांच विधायकों के साथ चर्चा की थी. चेल्लाकुमार ने बताया था कि पार्टी आलाकमान से परामर्श लेने के बाद पांचों विधायक अपना नेता चुनने के लिए एक बैठक करेंगे. उन्होंने गोवा में बुधवार के राजनीतिक घटनाक्रम को भाजपा द्वारा लोकतंत्र की हत्या किया जाना करार दिया. चेल्लाकुमार ने आरोप लगाया कि भाजपा करोड़ों रुपए की पेशकश कर विपक्षी दलों के विधायकों को अपनी ओर खींच रही है.