नई दिल्ली: बुधवार को जारी आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में जब से दिल्ली सरकार ने महिलाओं के लिए निशुल्क यात्रा की योजना लागू की है तब से महिला यात्रियों की हिस्सेदारी में करीब 10 फीसदी का उछाल आया है. पहले सार्वजनिक बसों में हर दिन 33 फीसदी महिला यात्री होती थी. योजना लागू होने के बाद से 22 दिनों में महिला यात्रियों की संख्या बढ़कर करीब 44 फीसदी हो गई  है.

मोदी सरकार का बड़ा कदम, BPCL, जहाजरानी निगम, कॉनकार में हिस्सेदारी बेचने को दी मंजूरी

केजरीवाल सरकार ने दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) और कलस्टर बसों में 29 अक्टूबर से महिलाओं के लिए निशुल्क यात्रा की योजना लागू की थी. हालांकि इस योजना के खिलाफ भी बहुत लोग खड़े थे लेकिन महिलाओं को मुफ्त सफर की सुविधा का विरोध करने वालों पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री ने कहा था कि उनकी आपत्ति हर चीज को मुफ्त करने को लेकर है. मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि मैं पैसे उड़ा या चोरी नहीं कर रहा हूं. उन्होंने कहा कि कर से जुटाए पैसे की पहले चोरी होती थी, लेकिन उन्होंने जनता को सुविधाएं देने के लिए बचत की.

पाकिस्तान ने LOC पर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, भारतीय सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब

केजरीवाल ने कहा था कि इस योजना से मंदी की ओर जा रही अर्थव्यवस्था को गति मिलेगी क्योंकि महिलाएं खरीदारी के लिए अधिक यात्रा करेंगी.