नई दिल्ली: देश में फैले कोरोना महामारी को लेकर जारी रिपोर्ट के मुताबिक यह वायरस 50 साल से अधिक आयु वाले और छोटे बच्चों को काफी नुकसान पहुंचाता है. इस वायरस से उन्हें सबसे ज्यादा खतरा है. लेकिन तिरुपति की रहने वाली एक 101 वर्षीया बुजुर्ग महिला ने कोरोना वायरस पर जीत हासिल की है. उन्हें कोरोना के इलाज के बाद अब अस्पताल से डिसचार्ज कर दिया गया है. यह बुजुर्ग तिरुपति स्थित श्री पद्मावती महिला अस्पताल में भर्ती थीं. Also Read - राजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण के 1213 नए मामले, अब तक 822 की मौत, बुरा है इन इलाकों का हाल

अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक ने कहा कि मनगामा (बुजुर्ग महिला) को 25 जुलाई के दिन अस्पताल से इलाज के बाद डिसचार्ज कर दिया गया. मनगामा की उम्र 101 साल है. उनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था. इस दौरान उन्हें आईसोलेशन वार्ड में रखा गया था. उन्हें डॉक्टर, नर्स व मेडिकल स्टाफ ने हर इलाज की सुविधा मुहैया कराई और मनगामा ठीक हो गईं. Also Read - बिहार में कोरोना के मरीज 90 हजार के पार, अब तक 60 हजार हुए ठीक, 474 की मौत

उन्होंने कहा कि मनगामा उन लोगों के लिए एक मिसाल है जो कोरोना वायरस से अपने जीवन को लेकर डर रहे हैं. 101 साल की मनगामा बहादुर और आत्मविश्वासी हैं. मनगामा ने इलाज के दौरान मेडिकल टीम के साथ पूरा सहयोग किया इस कारण वह ठीक हो गई हैं और अब वो अपने घर जा चुकी है.