नई दिल्ली: देश में फैले कोरोना महामारी को लेकर जारी रिपोर्ट के मुताबिक यह वायरस 50 साल से अधिक आयु वाले और छोटे बच्चों को काफी नुकसान पहुंचाता है. इस वायरस से उन्हें सबसे ज्यादा खतरा है. लेकिन तिरुपति की रहने वाली एक 101 वर्षीया बुजुर्ग महिला ने कोरोना वायरस पर जीत हासिल की है. उन्हें कोरोना के इलाज के बाद अब अस्पताल से डिसचार्ज कर दिया गया है. यह बुजुर्ग तिरुपति स्थित श्री पद्मावती महिला अस्पताल में भर्ती थीं.Also Read - Delhi में थम रही कोरोना की रफ्तार! बीते 24 घंटे में संक्रमण के नए मामलों से ज्यादा लोग हुए ठीक; पॉजिटिविटी दर में भी गिरावट

अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक ने कहा कि मनगामा (बुजुर्ग महिला) को 25 जुलाई के दिन अस्पताल से इलाज के बाद डिसचार्ज कर दिया गया. मनगामा की उम्र 101 साल है. उनका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था. इस दौरान उन्हें आईसोलेशन वार्ड में रखा गया था. उन्हें डॉक्टर, नर्स व मेडिकल स्टाफ ने हर इलाज की सुविधा मुहैया कराई और मनगामा ठीक हो गईं. Also Read - Corona Update: कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच केंद्र का राज्यों को जल्द से जल्द जांच बढ़ाने का निर्देश

Also Read - Uttarakhand Lockdown Update: कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच उत्तराखंड के इस शहर में शनिवार को रहेगा संपूर्ण लॉकडाउन

उन्होंने कहा कि मनगामा उन लोगों के लिए एक मिसाल है जो कोरोना वायरस से अपने जीवन को लेकर डर रहे हैं. 101 साल की मनगामा बहादुर और आत्मविश्वासी हैं. मनगामा ने इलाज के दौरान मेडिकल टीम के साथ पूरा सहयोग किया इस कारण वह ठीक हो गई हैं और अब वो अपने घर जा चुकी है.