नई दिल्ली: दिल्ली में 12 साल की एक बच्ची के साथ दुष्कर्म की हैवानियत भरी वारदात सामने आई है. बुरी तरह से जख्मी बच्ची को दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बच्ची के प्राइवेट पार्ट्स पर बुरी तरह से हमला किया गया है. गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अस्पताल जाकर जख्मी बच्ची का हाल जाना और उसके परिजनों से मुलाकात की. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “हैवानियत भरी इस वारदात की जानकारी ने आत्मा को अंदर तक झकझोर दिया है. ऐसे दरिंदे अपराधियों का खुला घूमना बर्दाश्त के बाहर है.” Also Read - महिलाओं से अपराध करने वालों के पोस्टर लगवाएगी योगी सरकार, आदेश जारी

मुख्यमंत्री केजरीवाल और दिल्ली महिला आयोग अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने दुष्कर्म पीड़िता के परिवार से अस्पताल में मुलाकात की. इस दौरान मुख्यमंत्री ने परिवार के लिए सहायता राशि की भी घोषणा की. Also Read - नवाजुद्दीन सिद्दीकी की पत्नी ने लगाया ‘रेप’ और ‘धोखाधड़ी’ का आरोप, एक्टर के भाई शमास जाएंगे कोर्ट

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने भी पीरागढ़ी में नन्ही निर्भया के परिवार से मिलने पहुंचे. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने कहा, “नन्ही निर्भया को इंसाफ दिलाने के लिए उपराज्यपाल निवास यानी राजभवन के यहां घेराव किया जाएगा. मैंने पीड़िता और उनके माता पिता से मुलाकात की और उनको हर सम्भव मदद का भरोसा जताया.” Also Read - दिल्ली सरकार को हाईकोर्ट का झटका, निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए 80% ICU बेड रिजर्व रखने के आदेश पर रोक

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने कहा, “कांग्रेस तब तक ये लड़ाई लड़ती रहेगी जब तक इन्साफ नहीं मिलेगा. घटना के 3 दिन हो चुके हैं, अभी तक सरकार क्यों सोयी हुई थी. पहले ही सरकारी अस्पताल में रेफर की जा चुकी थी फिर भी केजरीवाल जी चुप रहे.”

प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से कहा गया, “कभी निर्भया पर राजनीति चमकाने वाले आज ऐसे जघन्य अपराधों पर ऐसे चुप हैं जैसे कुछ हुआ ही नहीं है. क्यों केजरीवाल जी,संवेदना के एक शब्द की भी उम्मीद नहीं करें. खैर,कांग्रेस ने निर्भया को भी न्याय दिलाया था, इस बच्ची को भी दिलाएंगे. तब भी राजनीति नहीं की थी, अब भी नहीं करेंगे.”