मुंबई. मुंबई की एक इमारत में स्थित पब में गुरुवार की रात को जन्मदिन के उत्सव के दौरान आग लगने की घटना में 11 महिलाओं समेत 14 लोगों की मौत हो गयी. जिससे जश्न का पूरा माहौल मातम में तब्दील हो गया. अधिकतर लोगों की मौत दम घुटने के कारण हुई. अधिकारी ने बताया कि लोअर परेल इलाके में स्थित एक व्यावसायिक परिसर की तीसरी मंजिल पर एक होटल की छत पर आग लग गयी. घटना में 21 लोग गंभीर रूप से घायल हो गये.

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, ‘शहर के व्यावसायिक इलाके सेनापति बापट मार्ग पर स्थित कमला मिल्स परिसर में ट्रेड हाउस बिल्डिंग की 3 मंजिल पर बने वन एबॉव पब में रात करीब 12.30 बजे यह हादसा हुआ.’ अधिकारी ने बताया कि दमकल विभाग की टीमें एवं पुलिस मौके पर पहुंची और पब के अंदर फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिये अभियान शुरू किया.

उन्होंने बताया कि दमकल विभाग के कर्मचारियों ने होटल के अंदर फंसे कम से कम 35 घायलों को बाहर निकाला. उन्हें उपचार के लिये अस्पताल भेज दिया गया. उन्होंने बताया कि उपचार के दौरान 11 महिलाओं समेत 14 लोगों की मौत हो गयी. अधिकतर पीड़ितों की मौत दम घुटने के कारण हुई थी. उन्होंने बताया कि 21 अन्य लोग गंभीर रूप से झुलसे हुए हैं.

पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत हृतेष संघवी, जिगर संघवी और पब चलाने वाले सी ग्रेड हॉस्पिटैलिटी के अभिजीत मानका के खिलाफ मामला दर्ज किया गया. अधिकारी ने बताया कि एन एम जोशी मार्ग पुलिस थाना ने उनके खिलाफ मामला दर्ज किया है और इनमें से 2 लोगों को हिरासत में ले लिया है. आगे की जांच जारी है.

इस बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने आग लगने की घटना पर दुख व्यक्त किया है.

फडणवीस ने ट्वीट कर कहा, ‘मुंबई के कमला मिल्स में आग लगने की दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बारे सुनकर व्यथित हूं. घटना में कई लोगों की जान चली गयी. मेरी संवेदनाएं मृतकों के परिजनों के साथ हैं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं. बीएमसी आयुक्त को इस संबंध में गहन जांच का निर्देश देता हूं.’ एक अन्य ट्वीट में मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने बृहन्मुंबई महानगर पालिका आयुक्त (अजय मेहता) को दोषी अधिकारियों के खिलाफ तत्काल कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.

बीजेपी सांसद किरीट सोमैया ने ट्वीट किया, ‘मुंबई के कमला मिल्स परिसर स्थित पब में आग लगने की घटना को लेकर मैंने मुख्यमंत्री एवं बीएमसी आयुक्त से अनुरोध किया है कि वे देखें कि ऐसे पब, हुक्का पार्लर एवं मुंबई के फार्सन मार्ट, वर्कशॉप्स में ऐसे हादसों से बचने के पुख्ता इंतजाम हैं या नहीं. दो सप्ताह पहले कुछ इसी तरह की घटना में फार्सन वर्कशॉप साकीनाका में आग लगने के कारण कई लोग मारे गये थे.’ उन्होंने कहा कि मैं समझता हूं कि कमला मिल्स में ऐसे कई प्रतिष्ठान अवैध हैं, इनमें से कुछ को बाद में नियमित कर दिया गया और जहां आग लगने की घटना हुई वह गैरकानूनी तरीके से बना था.