कोझिकोड: केरल में निपाह वायरस से 28 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत के साथ ही इससे मरने वाले लोगों की कुल संख्या बढ़कर 15 हो गयी है. राज्य स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि करासरी निवासी अखिल का 29 मई से ‘कोझिकोड मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल’ (केएमसीएच) में इलाज चल रहा था. उसका कल रात यहां निधन हो गया. Also Read - बीजेपी सांसद रवि किशन ने कहा- गर्भवती हथिनी के कातिलों को दी जाए फांसी, ये बेहद अमानवीय

Also Read - Kerala Pregnant Elephant Murder: केरल में प्रेग्नेंट हथिनी की हत्या पर बोले उद्योगपति रतन टाटा- 'दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो'

Nipah वायरस से बचने के सबसे सरल उपाय, इन 4 तरीकों को अपनाएं… Also Read - हथिनी की मौत का मामला: केरल के CM ने कहा- कार्रवाई होगी, मेनका गांधी बोलीं- राहुल गांधी क्यों नहीं ले रहे एक्शन?

राज्य स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दो अन्य लोगों के भी इस वायरस की चपेट में आने की पुष्टि हुई है. उनका इलाज भी केएमसीएच में जारी है. वायरस की चपेट में आने की पुष्टि होने से पहले उनके संपर्क में आए 1353 लोगों को भी निगरानी में रखा गया है. जिले के नेल्लिकोडे में कल मधुसूदन (55) नामक एक शख्स की मौत हो गई थी. उसका एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था. मधुसूदन कोझिकोड जिला अदालत में वरिष्ठ अधीक्षक के तौर पर तैनात थे. निपाह वायरस एक नया पशुजन्य रोग है जो मनुष्य और पशुओं दोनों के लिए एक खतरनाक बीमारी है. ऐसी आशंका है कि यह पेराम्बरा के एक कुएं (जिसका लंबे समय से इस्तेमाल नहीं किया जा रहा था) से फैला है, जिसमें चमगादड़ों का बसेरा है और उससे कुएं का पानी दूषित हो गया. ऐसा माना जाता है कि इस वायरस का प्राकृतिक वास फल खाने वाले चमगादड़ की प्रजाति प्रेटोपस जीनस में है. (इनपुट एजेंसी)