मुंबई. मुंबई के उपनगर अंधेरी के साकीनाका इलाके में सेक्स के लिए मना करने पर एक 15 साल के नाबालिग ने 10 वर्षीय लड़के की कथित रूप से हत्या कर दी. पुलिस ने रविवार को बताया कि आरोपी ने शव को एक सूटकेस में रखा और सबूत मिटाने के लिए उसे एक नाले में फेंक दिया. उन्होंने बताया कि शव को बरामद कर लिया गया है. घटना शुक्रवार को लालबहादुर शास्त्री नगर इलाके की है.

एक अधिकारी ने बताया कि घटना तब सामने आई जब लड़के के पिता और पेशे से कबाड़ कारोबारी ने स्थानीय पुलिस को गुमशुदगी की शिकायत की. शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया कि उन्हें एक अज्ञात व्यक्ति ने फोन कर कहा है कि उसने उनके बेटे को अगवा कर लिया है और उसे छोड़ने के लिए पांच लाख रुपए की फिरौती मांग रहा है. शिकायतकर्ता ने कहा कि उसने अपने बेटे को शुक्रवार शाम उसके नाबालिग दोस्त के साथ देखा था. पुलिस ने नाबालिग को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया.

साकीनाका थाने के वरिष्ठ निरीक्षक किशोर सावंत ने कहा कि पूरा मामला तब सुलझ गया जब पुलिस को वो सिम कार्ड बरामद हुआ, जिसका इस्तेमाल उगाही के लिए फोन करने के लिए किया गया था और यह फकरुद्दीन चौधरी के नाम पर पंजीकृत था. सावंत के मुताबिक चौधरी ने पुलिस को बताया कि उनका 15 वर्षीय बेटा सिम कार्ड इस्तेमाल कर रहा है. पूछताछ में 15 वर्षीय नाबालिग ने बताया कि उसने कबाड़ कारोबारी को फिरौती के लिए कॉल की थी और ऐसा उसने एक दोस्त के कहने पर किया था जिसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

उन्होंने कहा कि इसके बाद आरोपी ने 10 वर्षीय लड़के की हत्या करने की बात मान ली क्योंकि लड़के ने उसके साथ सेक्स करने से मना कर दिया था. पुलिस अधिकारी के मुताबिक किशोर आरोपी ने एक सार्वजनिक शौचालय में ले जाकर इस वर्षीय बच्चे का गला दबा दिया और शव को सूटकेस में बंद कर उसे साकीनाका में एक नाले में फेंक दिया. पुलिस के मुताबिक, आरोपी और चौधरी के बेटे को किशोर अदालत में पेश किया गया. उन्होंने बताया कि किशोर अदालत ने उन्हें डोंगरी बाल गृह भेज दिया है. मामले में आगे जांच जारी है.