लखनऊ/देहरादून: कुमायूं रेजीमेंट सेंटर से 155 रिक्रूट सोमवार को भारतीय सेना में शामिल हो गए. इस अवसर पर उत्‍तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि भारतीय सैनिक, देश का गौरव हैं. हम सभी को अपने सैनिकों की बहादुरी पर नाज है. सैनिक बनकर देश सेवा करना पुण्य का काम है. मुख्यमंत्री रानीखेत के सोमनाथ मैदान में आयोजित भारतीय सेना की कसम परेड के अवसर पर सम्बोधित कर रहे थे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय सेना के कुमाऊं और नागा रेजीमेंट के गौरवशाली इतिहास में एक अध्याय और जुड़ गया है. देशभक्ति से ओतप्रोत बैंडधुन पर कदमताल करते इन सैनिकों ने अनुशासन की एक बेहतरीन मिसाल दी है. हमारे सैनिकों ने हमेशा ही एकता अखण्डता को बनाये रखने के लिये सीमाओं के सजग प्रहरी के रूप में काम किया. सैनिक बनकर देश सेवा करना एक पुण्य का काम है. सेना का जीवन कठिन होता. उन्होंने जवानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिस कठिन परिश्रम के साथ आप लोगों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया उसी कड़ी मेहनत से काम कर देश सेवा के लिए तत्पर रहकर काम करना होगा.

indian army 1

नए जवान सेना की परपंरा को कायम रखेंगे
मुख्यमंत्री ने कहा कि इन जवानों ने देश की सेवा के लिए सेना में शामिल होकर अपने जीवन का महत्वपूर्ण निर्णय लिया है. मुख्यमंत्री ने बताया कि उनके पिता स्वर्गीय प्रताप सिंह रावत भी सैनिक थे. इसी कारण वे भी सेना की गौरवशाली परंपरा से वाकिफ है. देवभूमि के सैनिकों ने अपने त्याग और साहस के बल पर प्रदेश और देश का नाम रोशन किया है. उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि नव प्रशिक्षित जवान सेना की महान गौरवशाली परम्परा को बनाए रखेंगे.

कसम परेड में शामिल हुए 155 जवान
सोमवार को सोमनाथ मैदान में 155 भारतीय सेना के जवानों की कसम परेड आयोजित की गई. इसमें 67 जवान उत्तराखण्ड के थे, शेष 88 जवान महाराष्ट्र, बिहार, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान व अन्य राज्यों के थे. इस समारोह में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले रिक्रूट को विशेष मेडल से सम्मानित किया गया. इनमें महेश ऐरी, रोहित चिलवाल, प्रदीप मेहरा, विशाल सिंह, अतुल जोशी, रमेश कुमार, पंकज सिंह सम्मिलित थे.

सभी को दिलाई गई शपथ
धर्मगुरू गणेश दत्त जोशी सहित अन्य सहयोगियों ने राष्ट्रीय ध्वज व गीता को साक्षी मानकर नव प्रशिक्षुओं को शपथ दिलायी. कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, कर्नल ऑफ द रजिमेंट ले0 जनरल बीएस सेरावत, सेना मैडल और कमांडेट ब्रिगेडियर जीएस राठौर ने भी परेड की सलामी ली. इस भव्य परेड़ के कमान्डर विकास कुमार थे. इस भव्य परेड़ में कर्नल नीरज सूद, शौर्य चक्र कार्यवाहक उप कमांडेट केआरसी एवं टीबीसी प्रशिक्षण बटालियन, ले0 कर्नल नक्षत्र भंडारी, जीएसओ 1 (प्रशिक्षण) ले0 कर्नल विजय नरसिम्हन, शिक्षा अधिकारी, केन्द्र के सभी सैन्य अधिकारी, सूबेदार मेजर, जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी रेणुका देवी सहित सैन्य अधिकारी उपस्थित थे.