नई दिल्ली: दिल्ली की नई विधानसभा में 16 ऐसे चेहरे दिखेंगे जो पहली बार निर्वाचित होकर सदन पहुंचेगे. ये सभी नए  चेहरे आम आदमी पार्टी के टिकट पर जीते हैं जिनमें आतिशि मर्लेना, राघव चड्ढा और दिलीप पांडेय शामिल हैं. कालकाजी सीट से मैदान में उतरीं आतिशि ने भाजपा के धर्मबीर सिंह को 11,393 वोटों के अंतर से हराया है. वह 2019 के लोकसभा चुनाव में पूर्वी दिल्ली सीट से भाजपा के गौतम गंभीर से हार गई थीं.

वहीं राजिन्दर नगर सीट से जीतने वाले चड्ढा ने भाजपा के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सरदार आर. पी. सिंह को 20,058 वोटों से हराया है. वह भी दक्षिणी दिल्ली सीट से लोकसभा चुनाव में मैदान में थे लेकिन भाजपा के रमेश बिधुड़ी से हार गए थे. वहीं 2019 में उत्तरी-पूर्वी दिल्ली से लोकसभा चुनाव हार चुके पांडेय ने तिमारपुर सीट से 24 हजार से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज की है. कांग्रेस छोड़कर विधानसभा चुनावों से पहले आप में आईं राजकुमारी ढिल्लों ने भाजपा के तेजिन्दर पाल सिंह बग्गा को हरीनगर सीट से 20 हजार से ज्यादा मतों से हराया है.

त्रिनगर सीट से आप की प्रीति तोमर ने भाजपा के तिलक राम गुप्ता को 10,700 से अधिक वोटों से हराया है. वहीं दूसरी तरफ दिल्ली विधानसभा चुनाव के मंगलवार को आए परिणामों के मुताबिक भाजपा के दो निवर्तमान विधायकों सहित कुल 44 निवर्तमान विधायक अपनी सीटें बचाने में कामयाब रहे. भाजपा के विजेंदर गुप्ता (रोहिणी) और ओ पी शर्मा (विश्वास नगर) अपनी अपनी सीटें बरकरार रखने में कामयाब रहे. दोनों को क्रमश: 12,000 से अधिक और 16,000 से अधिक मतों से जीत मिली.

गांधीनगर से पूर्व विधायक अनिल कुमार वाजपेयी भी अपनी सीट बरकरार रखी लेकिन इस बार वह आम आदमी पार्टी (आप) के बजाय भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़े थे. आप के प्रमुख चेहरे अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, सत्येंद्र जैन, गोपाल राय, इमरान हुसैन, कैलाश गहलोत और राजेंद्र पाल गौतम ने भी क्रमश: नयी दिल्ली, पटपड़गंज, शकूर बस्ती, बाबरपुर, बल्लीमारान, नजफगढ़ और सीमापुरी सीटें बरकरार रखीं.

आदर्श नगर सीट से आप प्रत्याशी पवन शर्मा भी भाजपा के राज कुमार भाटिया को करीब 1500 मतों से मात देकर यह सीट बचाने में कामयाब हुए. आंबेडकर नगर (सुरक्षित) सीट आप प्रत्याशी अजय दत्त ने करीब 28,000 मतों के अंतर से अपने निकटतम प्रत्याशी को हराकर बरकरार रखी है.

 

इनपुट- एजेंसी