मुंबई: मुंबई मेट्रो में उस समय सबकी धड़कनें धम गई जब एक 18 साल के युवक ने फाइन से बचने के लिए 30 फीट की ऊंचाई से छलांग लगा दी. गनीमत यह रही कि इतनी ऊंचाई से कूदने के बाद भी युवक जिंदा बच गया. घटना रविवार रात 8.45 बजे घाटकोपर मेट्रो स्टेशन की है. बताया जा रहा है कि युवक नशे में था.

युवक का नाम राजकुमार है और वह टाइल लगाने का काम करता है. वह  मूल रूप से ओडिशा का रहने वाला है. राजकुमार का दावा था कि वह साकी नाका स्टेशन से मेट्रो में चढ़ा है और घाटकोपर आया है. घाटकोपर पहुंचने पर जब उसने टोकन डाला तो ऑटोमैटिक फेयर कलेक्शन (AFC) गेट खुला नहीं.

राजकुमार ने बाहर निकलने के लिए एएफसी गेट से कूदने की कोशिश की लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने उससे सवाल-जवाब शुरू कर दिए. इसके बाद वह टिकट एरिया के पिछले हिस्से में वापस आया लेकिन वहां मेट्रो कर्मचारियों ने उसे फाइन देने को कहा.

नशे में धुत राजकुमार को जब सुरक्षाकर्मी पकड़कर ले जाने लगे तो उसने  तीन फ्लोर नीचे छलांग लगा दी. मेट्रो अधिकारी ने बताया कि युवक नीचे सड़क पर कूदा और तुरंत वहां आसपास के लोग इकट्ठा हो गए. बाद में पुलिस की मदद से उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया.

इतनी ऊंचाई से गिरने की वजह से राजकुमार के एक घुटने में फ्रैक्चर आया और ठोढ़ी पर टांके लगे हैं. अस्पताल के एक कर्मचारी के मुताबिक राजकुमार खतरे से बाहर है. मेट्रो अधिकारी से जब यह पूछा गया कि टोकन खरीदने पर भी गेट क्यों नहीं खुला, अधिकारी ने बताया, ‘राजकुमार ने घाटकोपर के लिए टोकन खरीदा था लेकिन वह स्टेशन पर घूम रहा था। टोकन खरीदने के एक घंटे बाद यात्रा पूरी करना जरूरी है नहीं तो टोकन अमान्य हो जाता है.