इंदौर: मध्यप्रदेश से विदेशी देश नागरिकों को एटीएम धोखधड़ी के मामलों में अरेस्ट किया गया है. देश के अलग-अलग शहरों में एटीएम धोखाधड़ी के मामलों को लेकर दो रोमानियाई नागरिकों को इंदौर शहर से गिरफ्तार किया गया है. दोनों रोमानियाई नागरिक उस गिरोह के सदस्य हैं जो देश के कई शहरों के एटीएम बूथों में स्किमर और गुप्त कैमरे जैसे उपकरणों का इस्तेमाल कर लोगों के एटीएम कार्ड से डाटा चुरा चुका है. खास बात है कि ये टूरिस्ट वीजा पर भारत आते और महंगे होटलों में रुकते थे और कई शहरों में वारदात को अंजाम देते थे.

मध्यप्रदेश पुलिस के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) अमरेंद्र सिंह ने शुक्रवार को बताया कि कोलकाता पुलिस की सूचना पर गुरुवार को गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान एड्रियन लिवियु (30) और कॉर्नेल कांस्टेन्टाइन (27) के रूप में हुई है. अपराध निरोधक शाखा के अधिकारी ने बताया कि दोनों आरोपियों को कोलकाता पुलिस के दल को सौंप दिया गया है. यह दल उन्हें लेकर कोलकाता रवाना भी हो गया है. कोलकाता पुलिस मामले की विस्तृत जांच कर रही है.

पुलिस के एक अन्य आला अफसर ने बताया कि दोनों रोमानियाई नागरिक उस गिरोह के सदस्य हैं जो देश के कई शहरों के एटीएम बूथों में स्किमर और गुप्त कैमरे जैसे उपकरणों का इस्तेमाल कर लोगों के एटीएम कार्ड से डाटा चुरा चुका है. उन्होंने बताया कि शातिर गिरोह चुराए गए डाटा से एटीएम कार्ड के “क्लोन” तैयार करता है. एटीएम बूथ में लगाए गए गुप्त कैमरे के चलते इन्हें संबंधित एटीएम कार्ड का पासवर्ड भी पता होता है. इस गोरखधंधे से यह गिरोह कई लोगों के खातों से लाखों रुपए निकाल चुका है. अधिकारी ने बताया कि रोमानियाई गिरोह के सदस्य आमतौर पर टूरिस्ट वीजा पर भारत आते हैं और महंगे होटलों में ठहरते हैं.