रायपुर: छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में सुरक्षा बलों और नक्सलवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में रविवार को दो जवान शहीद हो गए. वहीं एक नक्सली भी मरा गया है.  शहीद हुए जवानों में एक स्पेशल टास्क फोर्स और एक डिस्ट्रिक रिजर्व गार्ड का है. पांच घंटे तक चली इस मुठभेड़ में 6 अन्य जवान भी घायल हुए हैं. Also Read - छत्तीसगढ़ में Coronavirus के 15 नए केस, कुल आंकड़ा, 307 लेकिन कोई भी मौत नहीं

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले के एर्राबोर थाना क्षेत्र में पुलिस दल ने मुठभेड़ में एक नक्सली को मार गिराया है. उन्होंने बताया कि एर्राबोर थाना क्षेत्र में पुलिस दल को गश्त में रवाना किया गया था. दल जब क्षेत्र में था तब नक्सलियों ने पुलिस दल पर गोलीबारी शु्रू कर दी. बाद में पुलिस दल ने भी जवाबी कार्रवाई की। कुछ देर तक दोनों ओर से गोलीबारी के बाद नक्सली वहां से भाग गए थे. Also Read - Coronavirus in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में चार विकासखंड रेड जोन में शामिल, 44 निषेध क्षेत्र भी हुए घोषित


इस एंटी नक्सल ऑपरेशन के प्रमुख डीएम अवस्थी ने बताया कि मुठभेड़ सुबह 11 बजे शुरु हुई थी और दोनों ही तरफ से जबरदस्त गोलीबारी हुई, इसमें दो जवान शहीद हो गए हैं. उन्होंने बताया कि मुठभेड़ 4 बजे के करीब खत्म हो चुकी है.

फिलहाल इस बात की जानकारी नहीं हो सकी है कि कितने नक्सली थे, लेकिन बाद में जब पुलिस दल ने घटनास्थल की तलाशी ली तब वहां से एक नक्सली का शव बरामद किया गया.  पुलिस अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्र में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है.

बता दें 3 फरवरी को छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत कोंडरे से पदामीपारा तक सड़क निर्माण के काम में लगी एक टैंकर और टिप्पर को गादीरास थाना क्षेत्र में नक्सलियों ने आग के हवाले कर दिया था.
इतना ही नहीं नक्सली निर्माण स्थल पर पहुंचकर वाहनों में आग लगा दी और निर्माण कर्मियों से तीन मोबाइल भी लूटे और उन्हें धमकी देकर भगा दिया.