22 मार्च को पूरी दुनिया में वर्ल्ड वाटर डे (विश्व जल दिवस) मनाया जाता है. इस मौके पर सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वायरमेंट (सीएसई) द्वारा प्रकाशित पत्रिका ‘डाउन टु अर्थ’ ने दुनियाभर में जल की स्थिति को लेकर एक रिपोर्ट प्रकाशित की है. इसमें खासतौर पर दुनिया के उन 200 शहरों और 10 मेट्रो सिटी का जिक्र है जो ‘डे जीरो’ की ओर बढ़ रहे हैं.Also Read - Omicron का खतरा : दक्षिण अफ्रीका से लौटे चंडीगढ़ में तीन, बेंगलुरू में दो कोरोना पॉजिटिव; वेरिएंट की जांच जारी

‘डे जीरो’ का मतलब होता है, वह दिन जब टोटियों में एक बूंद भी पानी न आए. पूरे शहर में पानी की किल्लत हो जाए और लोग इसके लिए संघर्ष करते दिखे. इस रिपोर्ट में दुनिया के 200 शहर में भारत का बेंगलुरु भी है. साल 2050 तक 36 फीसदी शहर पानी की गंभीर समस्या से जूझेंगे. Also Read - दफ्तर जाने से पहले Bike साफ करते हैं तो सावधान, इस शख्स की तरह छोटी सी गलती आपको भी भारी पड़ सकती है

रिपोर्ट में कहा गया है कि अफ्रीका के केपटाउन की तरह ही भारत के बेंगलुरु का भी जलस्तर तेजी से घट रहा है. कुछ महीने या साल में यहां पानी की काफी ज्यादा किल्लत होने वाली है. Also Read - एक्‍ट्रेस ने पति पर दर्ज कराया रेप का केस, शादी से पहले लॉकडाउन के दौरान घर में आकर जबरन संबंध बनाए थे