दिल्ली सरकार के 200 वरिष्ठ नौकरशाह यहां गुरुवार को दो अधिकारियों के निलंबन के विरोध में एक दिन की छुट्टी पर रहे। दो वरिष्ठ सहकर्मियों के निलंबन का विरोध करने का निर्णय दिल्ली, अंडमान एवं निकोबार द्वीप सिविल सेवा (डैनिक्स) के सदस्यों ने लिया।उल्लेखनीय है कि दिल्ली की सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार ने विशेष सचिव (कारागार) सुभाष चंद्र एवं विशेष सचिव (अभियोजन) यशपाल गर्ग को कथित तौर पर दो कैबिनेट नोट पर हस्ताक्षर करने से इंकार करने पर निलंबित कर दिया।यह भी पढ़े :मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेसवे के चौड़ीकरण से पश्चिमी उप्र को लाभ : संजीव बालयान Also Read - इंजीनियरिंग की, मिस इंडिया दिल्ली बनीं, अब पॉलिटिक्स करेंगी 21 साल की ये मॉडल, अरविंद केजरीवाल की...

दिल्ली के गृह मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि उन्हें डैनिक्स सदस्यों की हड़ताल के बारे में कोई सूचना नहीं है। उन्होंने कहा, “निलंबन एक प्रशासनिक मामला है। अधिकारी मंत्रिमंडल के एक फैसले को लागू करने में असफल रहे।”सत्येंद्र ने आरोप लगाया कि उपराज्यपाल नजीब जंग ने अधिकारियों को काम न करने का ‘निर्देश’ दिया है। उन्होंने कहा, “अधिकारी मुझे बता नहीं सकते कि ‘उपराज्यपाल ने हमसे काम न करने के लिए कहा है।’ उपराज्यपाल को एक लिखित आदेश पारित करना चाहिए।” Also Read - Farmers Protest के बीच सरकार ने Twitter से कहा- 1178 पाकिस्‍तानी-खालिस्‍तानी अकाउंट्स हटाए: सूत्र

दिल्ली में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने भी यह कहते हुए दोनों अधिकारियों के निलंबन की निंदा की कि आप अधिकारियों को प्रताड़ित कर रही है। उन्होंने गृहमंत्री सत्येंद्र जैन के इस्तीफे की मांग की।सतीश ने कहा, “दो विशेष सचिवों का निलंबन प्रशासन का निहायती गलत फैसला है। भाजपा अधिकारियों के ऐसे शोषण का पुरजोर विरोध करती है और जैन के इस्तीफे की मांग करती है।” Also Read - बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ दिल्ली पुलिस से शिकायत, अरविंद केजरीवाल का फर्जी वीडियो शेयर करने का आरोप