नई दिल्ली: दिल्ली सरकार ने कोरोना वायरस प्रकोप के मद्देनजर करीब 20,000 घरों को ”होम क्वारंटीन” के तौर पर चिह्नित किया है. उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मंगलवार को यह जानकारी दी. उपराज्यपाल ने ट्विटर पर कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए खाद्य वितरण केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी.Also Read - Punjab Polls 2022: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल कोरोना वायरस से संक्रमित, अस्पताल में भर्ती

बैजल ने कोविड-19 से निपटने के उपायों पर चर्चा के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, मुख्य सचिव विजय कुमार देव और पुलिस आयुक्त के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक की. उन्होंने ट्वीट किया, “यह तय किया गया है कि खाद्य वितरण केंद्रों की संख्या वर्तमान 500 से बढ़ाकर 2500 की जाएगी ताकि सामाजिक दूरी का प्रभावी रूप से पालन किया जा सके. जीएनसीटीडी ने 20,000 से ज्यादा घरों की पहचान कर उनको पृथक रखने के लिए चिह्नित किया है.” Also Read - Coronavirus in India: पिछले 24 घंटों में कोरोना के 2.82 लाख नए केस, कल से 18 फीसदी ज्यादा

Also Read - Delhi में थम रही कोरोना की रफ्तार! बीते 24 घंटे में संक्रमण के नए मामलों से ज्यादा लोग हुए ठीक; पॉजिटिविटी दर में भी गिरावट

उपराज्यपाल ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि खाद्य वितरण केंद्रो की संख्या बढ़ाने का फैसला उन खबरों के बाद लिया गया कि कुछ केंद्रों पर सामाजिक दूरी संबंधी नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है.

बैजल ने ट्वीट किया, ”प्रशासन और पुलिस को मेरी सलाह है कि वे सामाजिक दूरी और घर पर पृथक रहने संबंधी नियम पर कड़ी नजर रखें. किसी भी उल्लंघन के खिलाफ कार्रवाई करें और इसका प्रचार करें. इसके अलावा चिकित्सा सुविधा बढ़ाने के कदम में तेजी लाएं.”