नई दिल्ली: देश में कोरोना संकट से सबसे अधिक प्रभावितों में देश की राजधानी राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 110 नए मामले आने के साथ संक्रमित लोगों की संख्या रविवार को बढ़ कर 2,003 पहुंच गई शहर में आज संक्रमण से दो लोगों की मौत भी हुई. बता दें कि शनिवार की रात तक शहर में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 1,893 थी और 43 लोगों की इससे मौत हुई थी. Also Read - Covid-19 Vaccine Update on 21 October 2020: पहले चरण में इन तीन करोड़ लोगों को दी जाएगी कोरोना की वैक्सीन

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा, दिल्ली में COVID19 के 2003 पॉजिटव केस मामले हैं, जिनमें कल से 110 नए मामले शामिल हैं. मरने वालों की संख्या 45 है. गंभीर बीमारियों से पीड़ित 38 मरीज हैं. रैपिड परीक्षण आज से शुरू होने की सबसे अधिक संभावना है. Also Read - 84 दिन बाद भारत में 50,000 से कम नए मामले आए, ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं: स्वास्थ्य मंत्रालय

दिल्ली सरकार के अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण से अभी तक कुल 45 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से 25 मरीज 60 वर्ष से ज्यादा आयु के थे. अधिकारियों ने बताया कि मरने वालों में 10 लोगों की आयु 50 से 59 वर्ष के बीच थी, जबकि 10 अन्य की आयु 50 वर्ष से कम थी. शनिवार की रात तक कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 1,893 थी और 43 लोगों की इससे मौत हुई थी.

तुगलकाबाद एक्सटेंशन में संक्रमण के 35 नए मामले
वहीं, दिल्ली के 78 निषिद्ध क्षेत्रों में शामिल तुगलकाबाद एक्सटेंशन में आज कोरोना वायरस संक्रमण के 35 नए मामले सामने आए अगर संक्रमित लोगों की संख्या के आधार पर देखें, तो राष्ट्रीय राजधानी में यह इलाका वायरस संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित है.

गली संख्या 24 से 28 के कुछ मकान पूरी तरह सील
पुलिस उपायुक्त (दक्षिण पूर्व) आर.पी. मीणा ने बताया, कोरोना वायरस से संक्रमण के 35 नए मामले आने के बाद तुगलकाबाद की कुछ और गलियों को सील कर दिया गया है.’’ गली संख्या 24 से 28 के कुछ मकानों को पूरी तरह सील कर दिया गया है.पुलिस यह सुनिश्चित करेगी कि निषिद्ध क्षेत्र में कोई बाहर ना निकले, सिर्फ अनुमति प्राप्त लोगों को ही आने-जाने की अनुमति होगी.

दिल्ली में कोरोना वायरस ने ली नवजात शिशु की जान
बता दें कि दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण ने रविवार को डेढ़ महीने के एक बच्चे की जान ले ली. देश में कोविड-19 से मरने वाला यह संभवत: सबसे कम उम्र का मरीज है. नवजात की मौत लेडी हार्डिंग अस्पताल से संबद्ध कलावती सरन बाल चिकित्सालय में हुई है.

बच्चे को कुछ दिन पहले अस्पताल लाया गया था
अस्पताल के एक डॉक्टर ने नाम न छापने की शर्त पर बताया, बच्चे को कुछ दिन पहले अस्पताल लाया गया था. उसके कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई. बच्चे को एसएआरआई (गंभीर श्वसन रोग) वार्ड में भर्ती कराया गया और कल उसकी मौत हो गई. उन्होंने बताया कि बच्चे के संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान की जा रही है. सिर्फ दिल्ली ही नहीं, मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में भी महज 12 दिन की एक बच्ची कोरोना वायरस से संक्रमित हुई है.