नई दिल्ली. राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एएनआई) ने साल 2008 मालेगांव ब्लास्ट केस में कर्नल पुरोहित और साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर समेत सभी 7 पर आतंकी साजिश और हत्या के आरोप तय किए हैं. इसके साथ ही मामले की अगली सुनवाई 2 नवंबर को होगी. बता दें कि सोमवार को बॉम्बे हाईकोर्ट ने पुरोहित सहित अन्य आरोपियों के खिलाफ निचली अदालत द्वारा तय आरोप पर रोग लगाने से इनकार कर दिया था.

बता दें कि कर्नल पुरोहित और सभी आतंकियों पर साजिश रचने, हत्या और दूसरे मामलों में आरोप तय किए गए हैं. दूसरी तरफ हाईकोर्ट ने निचली अदालत में सुनवाई पर रोक लगाने का पुरोहित का अनुरोध अस्वीकार कर दिया. हाई कोर्ट की पीठ ने कहा था कि पूर्व में सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट दोनों ने ही इस मामले की सुनवाई में तेजी लाने का निर्देश दिया था।
महाराष्ट्र के मालेगांव में 29 सितम्बर 2008 को एक मस्जिद के पास एक मोटरसाइकिल में विस्फोट होने से 6 व्यक्तियों की मौत हो गई. इसमें 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे. कर्नल पुरोहित के साथ-साथ इसमें प्रज्ञा सिंह ठाकुर, मेजर (सेवानिवृत्त) रमेश उपाध्याय, समीर कुलकर्णी, अजय राहिरकर, सुधाकर द्विवेदी और सुधाकर चतुर्वेदी शामिल हैं.