चेन्नई: द्रमुक नेता एम. के. स्टालिन ने बुधवार को कहा कि वह पार्टी नेता एम. करुणानिधि के अस्पताल में भर्ती होने के बाद सदमे व दुख से पार्टी के 21 कार्यकर्ताओं की मौत की खबर सुनकर स्तब्ध हैं. स्टालिन ने एक बयान में पार्टी सदस्यों से ऐसी गतिविधियां नहीं करने का आग्रह किया जो उनकी मौत का कारण बने. Also Read - Coronavirus: एम के स्टालिन का केन्द्र सरकार को पत्र, कहा- भारतीयों की सुरक्षित वापसी में सरकार करें हस्तक्षेप

करुणानिधि के बेटे स्टालिन ने मृत द्रमुक सदस्यों के परिवारों के प्रति संवेदना जताई. कावेरी अस्पताल द्वारा 94 साल के वरिष्ठ राजनेता के बारे में जारी बयान के हवाले से उन्होंने कहा कि उनके नेता का स्वास्थ्य सामान्य हो रहा है. Also Read - तमिलनाडु के सीएम ने कहा- करूणानिधि कुछ नहीं कर पाए तो स्टालिन क्या कर लेंगे

सांस लेने में तकलीफ के बाद करुणानिधि ने आंखें खोली, मेडिकल सहायता से हालत स्थिर Also Read - करुणानिधि का निधन: राष्‍ट्रपति, पीएम मोदी, राहुल गांधी सहित तमाम नेताओं ने जताया शोक

अस्पताल ने 31 जुलाई को कहा कि करुणानिधि विस्तारित अवधि के लिए वार्ड में रहेंगे. वह लीवर में शिकायत सहित उम्र संबंधी दिक्कतों की वजह से अस्पताल में भर्ती हैं.करुणानिधि को 28 जुलाई को रक्तचाप में गिरावट के बाद कावेरी अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

डीएमके प्रमुख करुणानिधि की तबियत में सुधार, अस्पताल के बाहर समर्थकों पर लाठीचार्ज

करुणानिधि पांच बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे हैं. उन्होंने 13 बार चुनाव लड़ा और कभी नहीं हारे. अस्‍पताल के बयान में कहा गया है, “उन्हें आईसीयू में रखा गया है और डॉक्टरों और नर्सों की एक टीम उनकी देखभाल कर रही है.” बयान में कहा गया, “उन्हें 29 जुलाई को सांस लेने में दिक्कत आई थी लेकिन, उपचार का उन पर अच्छा असर हुआ और उनके महत्वपूर्ण संकेत धीरे-धीरे सामान्य हो गए.”