नई दिल्ली: नया साल पूरे जोर शोर के साथ आ गया है. और अब देश गणतंत्र दिवस की तैयारी में लग चूका है. देश के इतिहास में यह एक अहम तारीख है जिसकी बदौलत लोगों ने गणतंत्र को समझा है. हर साल इस दिन झांकियों का एक सुनहरा दृश्य देखने को मिलता है. इस बार की गणतंत्र दिवस परेड के लिए आए झांकियों के 56 प्रस्तावों में से 22 चुने गए हैं जिनमें राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों के 16 और केंद्रीय मंत्रालयों के छह प्रस्ताव हैं. रक्षा मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी.

देश के 6 करोड़ किसानों को आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देंगे नए साल का तोहफा

मंत्रालय को राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों से झांकियों के 32 और केंद्रीय मंत्रालयों एवं विभागों से 24 प्रस्ताव मिले थे. मंत्रालय द्वारा जारी बयान बयान में कहा गया है,‘‘ पांच बैठकों के बाद उनमें से राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के 16 और मंत्रालयों/विभागों के छह प्रस्ताव अंतिम रूप से गणतंत्र दिवस परेड 2020 के लिए चुने गए हैं.’’ बयान के अनुसार पश्चिम बंगाल के प्रस्ताव को विशेषज्ञ समिति द्वारा दो दौर की अपनी बैठकों में परीक्षण करने के बाद खारिज कर दिया गया.