नई दिल्ली: दिल्ली सरकार ने सभी दिल्ली वासियों से अपील की है कि दीपावली पर सभी लोग मिलकर के दीया जलाएं और पटाखे न जलाएं. विपक्ष के लोग युवाओं को पटाखा जलाने के लिए न उकसाएं. दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति को देखते हुए 16 नवंबर से रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान का दूसरा चरण शुरू होगा. यह अभियान 30 नवंबर तक चलेगा. पहले चरण की तरह प्रदूषण रोकने के लिए इसके अंतर्गत 11 जिलों के 100 अलग-अलग चौराहों पर ढाई हजार मॉर्शल नियुक्त किए जाएंगे. Also Read - प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए एमपी सरकार का अनोखा कदम, अब पराली से ईधन बनाने की लगेगी यूनिट

मुख्य 10 चौराहों पर 20-20 पर्यावरण मार्शल नियुक्त होंगे. एसडीएम, एसीपी ट्रैफिक पुलिस का संयुक्त निगरानी का तंत्र दूसरे चरण के अंदर भी जारी रहेगा. दिल्ली के 2 हजार एकड़ क्षेत्र में बॉयो डीकंपोजर के छिड़काव के असर को जानने के लिए गठित कमेटी अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. दिल्ली के हिस्से का प्रदूषण कम करने के लिए गोपाल राय ने दिल्ली के युवाओं, आरडब्ल्यूए, मोहल्ले के लोगों से अपील करते हुए कहा, “कहीं पर यदि कूड़े को जलाया जा रहा है, तो उसे तुरंत बुझा दें. दीपावली पर सभी लोग मिलकर के दीया जलाएं और पटाखे न जलाएं. विपक्ष के लोग युवाओं को पटाखा जलाने के लिए न उकसाएं.” Also Read - Delhi Pollution News: जहरीली हुई दिल्ल-एनसीआर की हवा, सांस संबंधी बीमारी के मरीजों में इजाफा

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के अंदर प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए 5 अक्टूबर से ‘युद्ध, प्रदूषण के विरुद्ध’ अभियान शुरू किया है. दिल्ली के अंदर अलग-अलग प्रदूषण के स्रोतों को रोकने के लिए अभियान चलाए जा रहे हैं. वाहन प्रदूषण को कम करने के लिए 21 अक्टूबर से 15 नवंबर तक ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान जारी है. Also Read - Health Tips: वायु प्रदूषण से होने वाली समस्याओं निपटने के लिए, डाइट में शामिल करें ये सुपरफूड्स

अभियान के तहत दिल्ली के लोगों की ओर से रेड लाइट पर गाड़ी बंद करके वाहन प्रदूषण को कम करने में योगदान दिया जा रहा है. दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा, “मैं दिल्ली के कार, बाइक, टैक्सी चालक समेत उन तमाम लोगों को बधाई देना चाहता हूं, जिन लोगों ने अपनी जिम्मेदारी समझ कर दिल्ली के अंदर से पैदा होने वाले वाहन प्रदूषण को कम करने में अपना सकारात्मक सहयोग दिया है.”

इसके साथ दिल्ली के अंदर एंटी डस्ट पॉल्यूशन को लेकर भी अभियान चलाया जा रहा है. कुछ जगहों पर ग्रीन दिल्ली एप पर शिकायत आ रही है कि निर्माण और ध्वस्तीकरण के दौरान लापरवाही बरती जा रही है. इस पर पीडब्ल्यूडी, डीडीए, एमसीडी समेत अलग-अलग विभागों के माध्यम से कार्यवाही की जा रही है.

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा, “मैं दिल्ली के लोगों से अपील करना चाहता हूं, यह प्रदूषण के खिलाफ जो लड़ाई है, उसे सरकार केवल अकेले अपने दम पर लड़कर नहीं जीत सकती. इसके लिए हम सबको अपने हिस्से का छोटा-छोटा योगदान देना होगा. मैं दिल्ली के दो करोंड़ लोगों से निवेदन करना चाहता हूं कि दिल्ली में अपने हिस्से का जो धूल प्रदूषण है, उसे नियंत्रित करने के लिए आप सतर्कता बरतें और धूल प्रदूषण को रोकने में सहयोग करें.”