नई दिल्‍ली. देश के सबसे चर्चित घोटालों में से एक 2जी स्‍पेक्‍ट्रम मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट के उस फैसले के खिलाफ सोमवार को हाईकोर्ट में अपील की है, जिसमें पूर्व संचार मंत्री ए राजा समेत 17 आरोपियों को बरी कर दिया था. 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन के स्‍कैम के 17 आरोपियों में 14 व्यक्ति और 3 कंपनियां थी. ये तीन कंपनियां रिलायंस टेलिकॉम, स्वान टेलिकॉम, यूनिटेक थीं. बता दें कि दिल्‍ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने बीते साल 21 दिसंबर को सभी आरोपियों को बरी कर दिया था.  17  निर्दोष करार करार आरोपियों में पूर्व संचार मंत्री ए राजा, कनिमोई करुणानिधि, सिद्धार्थ बेहुरा आदि शामिल थे. Also Read - SSR Case: ईडी ने जब्त किए रिया चक्रवर्ती और परिवार वालों के मोबाइल, सवाल ये भी है इटली में सुशांत को क्या हुआ था?

बता दें कि 2जी मामले में अभी ईडी की ओर से ही हाईकोर्ट में अपील दायर की गई है. अब तक सीबीआई ने इस मामले में अपील दायर नहीं की है.

1 लाख 76 हजार करोड़ रुपए के घोटाले का था अनुमान
साल 2010 भारत के महालेखाकर और नियंत्रक (कैग) ने 2008 में आवंटित किए गए 2जी स्‍पेक्‍ट्रम पर सवाल खड़े किए थे और अपनी रिपोर्ट में अनुमानित एक लाख 76 हजार करोड़ रुपए के सरकारी खजाने को नुकसान होना बताया था. 2जीस्‍पेक्‍ट्रम का ये आवंटन पहले आओ पहले पाओ की नीति पर किया गया था. वहीं, सीबीआई ने कैग की रिपोर्ट के बजाय अपने आरोप में करीब 30 हजार करोड़ रुपए की बात कही थी.

2-जी घोटाले मामले में बरी हुए थे ये सभी आरोपी
1. ए. राजा
2. कनिमोई करुणानिधि
3. आरके चंदोलिया
4. शाहिद उस्मान बलवा
5. विनोद गोयनका
6. मैसर्स स्वान टेलीकॉम (प्रा.लि. ) (अब मैसर्स एतिसलात डीबी टेलीकॉम (प्र. लिमिटेड)
7. संजय चंद्रा
8. मैसर्स यूनीटेक वायरलैस (तमिलनाडु) लिमिटेड
9. गौतम दोषी
10. सुरेंद्र पिपारा
11. हरि नायर
12. मैसर्स रिलायंस टेलीकॉम लिमिटेड
13. आसिफ बलवा
14. करीम मोरानी
15. राजीव अग्रवाल
16. शरद कुमार
17. सिद्धार्थ बेहुरा

154 गवाह कोर्ट में पेश किए थे, लेकिन सभी आरोपी हुए थे बरी
पटियाला हाउस कोर्ट ने सीबीआई की ओर से 154 गवाहों के बयान दर्ज किए. इन गवाहों में अनिल अंबानी, पत्नी टीना अंबानी और नीरा राडिया भी शामिल थे. इनकी गवाही करीब 4400 पेज में दर्ज की गई थी, लेकिन निचली कोर्ट में सभी आरोपी बरी हो गए थे. (इनपुट: एजेंसी)