2 अक्टूबर को गांधी जयंती के मौके पर दिल्ली मेट्रो ने एक अद्भुत पहल की है। दिल्ली मेट्रो ने इस गाँधी जयंती पर एक प्रदर्शनी का आयोजन किया है। जिसमें मेट्रो स्टेशन पर आज़ादी के संघर्ष के कुछ दुर्लभ क्षणों को भी चित्रों के ज़रिये यात्रियों के सामने रखा जाएगा। इसके साथ-साथ लोग आजादी से कुछ दशक पहले के महत्वपूर्ण इतिहास से भी रूबरू होंगें।

इस प्रदर्शनी में आज़ादी से पहले हुई महतवपूर्ण घटनाओं को तस्वीरों के ज़रिये लोगों के सामने रख जाएगा, जिसमे हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पर महात्मा गांधी को थर्ड क्लास कोच से बाहर निकाल देने की घटना से लेकर, दांडी यात्रा पर निकलने के दौरान की गांधी की तस्वीरों को इतिहास प्रेमी ‘यलो लाइन’ के ‘जोरबाग’ मेट्रो स्टेशन पर देख सकेंगें। इस खास मौके पर दिवंगत फोटोग्राफर कुलवंत रॉय की तस्वीरों से इस प्रदर्शनी को सजाया जाएगा, जिन्होंने इन तस्वीरों को 1930 और 1940 के दशकों में खींचा था।

gandhi

कहा जा रहा है कि यह प्रदर्शनी लगभग 2 महीनों तक रखी जाएगी। इन तस्वीरों को बड़े आकार के पैनल से लेकर डिस्प्ले बोर्ड में लगाया जाएगा और साथ ही इनमें ऐतिहासिक राजनैतिक बैठकों, उल्लेखनीय और महत्वपूर्ण चित्रों और प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानियों और नेताओं के जीवन के कुछ खास पलों को भी प्रदर्शित किया जाएगा। इस प्रदर्शनी के निरीक्षक अधिकारी आदित्य आर्य ने इसके बारे में बताया कि इन तस्वीरों में मेरी पसंद की भी कई तस्वीरें हैं। मेरे अनुसार गांधी जी एक आम इंसान की ही तरह रहना पसंद करते थे और उन्हें शोर, गन्दगी और अनियमितता नापसंद थीं। इसी प्रकार मेरा मानना है कि आज भारत में मेट्रो की सफलता को देखकर उन्हें ख़ुशी होती।

IMG_4084

ये भी पढ़ें: भारतीय रेल्वे: 23 ट्रेनों का समय बदला 90 ट्रेनों की बढ़ी रफ्तार

इस प्रदर्शनी के लिए आदित्य राय ने कुलवंत रॉय द्वारा संजोकर रखे गए निगेटिव्स ढून्ढ निकाले और इन्हें तस्वीरों का रूप दिया। इसके साथ आदित्य राय ने जो कि खुद एक फोटोग्राफर हैं, लोगों के लिए पोस्ट कार्ड के आकर में इन तस्वीरों को वितरित करने की घोषणा की है। इस प्रदर्शनी को दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन और इंडिया हेबिटेट सेंटर की सहायता से लगाया जा रहा है।