नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश और राष्ट्रीय राजधानी में तेज हवाओं के साथ बारिश होने के कारण कम से कम 34 लोगों की मौत हो गई और भारी नुकसान हुआ. अधिकारियों ने बताया कि पश्चिम बंगाल में आंधी के कारण चार बच्चों समेत कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई. उत्तर प्रदेश में 11 लोग मारे गए जबकि आंध्र प्रदेश में नौ और दिल्ली में दो लोगों के मरने की सूचना है. इधर मौसम विभाग ने कहा है कि अगले दो-तीन दिनों तक तूफान का असर रह सकता है. इंडियन मेट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट के वैज्ञानिक चरण सिंह के अनुसार वेस्‍टर्न डिस्‍टर्बेंस के चलते अगले 48-72 घंटे तक मौसम खराब रहने का अनुमान है.

दिल्ली समेत उत्तर भारत में कई जगहों पर आई प्रचंड आंधी के चलते बड़ी संख्या में पेड़ गिर गए जिससे सड़क, रेल एवं वायु सेवा प्रभावित हुए. मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडिगढ़, मध्य प्रदेश, झारखंड, असम, मेघालय, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में छिटपुट स्थानों पर गरज के साथ छींटे पड़े.

दिल्ली एवं आस पास के इलाकों में 109 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से चली धूल भरी आंधी और तेज हवाओं के चलते दो लोगों की मौत हो गई और 19 लोग घायल हो गए. इसके चलते विमान, रेल और मेट्रो के परिचालन पर असर पड़ा.

पश्चिम बंगाल के आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में चार बच्चों समेत कम से कम 12 लोगों के मरने की सूचना है. इस दौरान बिजली गिरने से 15 लोग घायल हो गए.