जम्‍मू-कश्‍मीर में सुरक्षाबलों और पुलिस ने आतंकवादी संगठनों की स्‍वतंत्रता दिवस पर आईईडी ब्‍लास्‍ट करने की बड़ी साजिश को आज शनिवार को नाकाम कर दिया है. जम्‍मू में यह बड़ा हादसा सुरक्षाबलों और पुलिस सतर्कता के चलते नाकाम किया जा सका है. पुलिस ने आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ करके 4 आतंकवादियों को अरेस्‍ट किया है. पाकिस्‍तानी कमांडर के निर्देश पर ये बड़ी आतंक साजिश की वारदात को अंजाम देने के लिए काम कर रहे थे.Also Read - त्योहारी सीजन में धमाका करने की फिराक में है ISI, भारतीय खुफिया विभाग ने जारी किया अलर्ट

पुलिस के मुताबिक, जैश-ए-मोहम्मद के एक मॉड्यूल के ये चार आतंकवादी ड्रोन से गिराए गए हथियारों को इकट्ठा करने की प्‍लानिंग की थी. जम्‍मू-कश्‍मीर के आईजीपी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी जम्मू में 15 अगस्त पहले किसी वाहन में आईईडी लगाने की योजना बनाई थी. इन्‍होंने देश के कई महत्‍वपूर्ण ठिकानों की टोह भी ली थी. Also Read - अयोध्या में सदी पुराने मंदिर से आठ प्राचीन मूर्तियां चोरी, खुफिया विभाग की मदद ले रही पुलिस

Also Read - J&K Encounter: शोपियां में आम नागरिक पर गोली चलाने के बाद रातभर चली मुठभेड़ में एक आतंकवादी ढेर

जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक ने कहा, पुलिस ने जैश-ए-मोहम्मद के एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है और 4 आतंकवादियों को गिरफ़्तार किया है. ये आतंकवादी ड्रोन से गिराए गए हथियारों को इकट्ठा करने और कश्मीर घाटी में सक्रिय आतंकवादियों को हथियार सप्लाई करने की योजना बना रहे थे.

जम्‍मू के आईजीपी ने कहा, गिरफ़्तार किए गए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी 15 अगस्त से पहले जम्मू में वाहन में आईईडी लगाने और देश के अन्य हिस्सों में महत्वपूर्ण ठिकानों की रेकी करने की योजना बना रहे थे.

पाक कमांडर ने अयोध्या में राम मंदिर की टोह करने का काम सौंपा
जम्मू के पुलिस महानिरीक्षक ने कहा, गिरफ्तार जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी इजहार खान को एक पाक-आधारित कमांडर ने पानीपत ऑयल रिफाइनरी की टोह लेने के लिए कहा था और उसने यह किया और पाकिस्तान को वीडियो भेजा. उन्हें अयोध्या में राम मंदिर की रेकी करने का काम सौंपा गया था, लेकिन इस काम को पूरा करने से पहले ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

कश्मीर में हथियार ले जाने के लिए इस्तेमाल किया गया
प्रवक्ता ने बताया कि प्रिचू पुलवामा निवासी और जैश-ए-मोहम्मद सदस्य मुंतजिर मंजूर उर्फ ​​सैफुल्ला को इस कड़ी में सबसे पहले गिरफ्तार किया गया और उसके पास से एक पिस्तौल, एक मैगजीन, आठ कारतूस और दो चीनी हथगोले जब्त किए गए. उन्होंने कहा कि कश्मीर में हथियार ले जाने के लिए इस्तेमाल किया गया उसका ट्रक भी जब्त कर लिया गया है.

यूपी के शामली से तीन आतंकवादी गिरफ्तार
प्रवक्ता ने बताया कि इसके बाद, उत्तर प्रदेश के शामली जिले के कांधला में मिरदान मोहल्ला निवासी इजहार खान उर्फ ​​सोनू खान सहित जैश के तीन और आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया. खान ने खुलासा किया कि मुनाजिर उर्फ ​​शाहिद के नाम से पाकिस्तान में जैश के एक कमांडर ने उसे अमृतसर के पास से हथियार लेने के लिए कहा था जिसे ड्रोन से गिराया जाना था.

जैश ने पानीपत रिफाइनरी की रेकी कराई, अयोध्या में राम जन्मभूमि की टोह लेनी थी
प्रवक्ता ने बताया कि जैश ने इजहार खान उर्फ ​​सोनू खान को पानीपत तेल रिफाइनरी की टोह लेने के लिए भी कहा था जो उसने किया और पाकिस्तान को वीडियो भेजे. प्रवक्ता ने कहा कि उसे अयोध्या में राम जन्मभूमि की टोह लेने का काम भी सौंपा गया था, लेकिन काम पूरा करने से पहले ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

जम्मू में आईईडी विस्फोट के लिए बाइक खरीदना थी
प्रवक्ता ने कहा कि अन्य आतंकवादियों शोपियां जिले के जेफ इलाके के निवासी तौसीफ अहमद शाह उर्फ ​​शौकत को जैश कमांडर शाहिद और पाकिस्तान में अबरार नाम के एक अन्य जैश आतंकवादी ने जम्मू में रहने का स्थान लेने काम सौंपा था, जो उसने किया. प्रवक्ता ने बताया कि फिर उसे जम्मू में आईईडी विस्फोट करने के लिए एक पुरानी मोटरसाइकिल खरीदने के लिए कहा गया. प्रवक्ता ने कहा कि इस उद्देश्य के लिए आईईडी को एक ड्रोन द्वारा गिराया जाना था. शाह को यह काम पूरा करने से पहले ही गिरफ्तार कर लिया गया.

एक फल व्यापारी पाकिस्तान के शाहिद के संपर्क में था
पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलवामा जिले के बंदजू इलाके के निवासी जहांगीर अहमद भट को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है और वह कश्मीर का एक फल व्यापारी है जो लगातार पाकिस्तान में शाहिद के संपर्क में था और उसने इजाहगार खान का परिचय उससे कराया था. उन्होंने कहा कि भट कश्मीर और देश के बाकी हिस्सों में जैश-ए-मोहम्मद के लिए भर्ती कर रहा था. पुलिस ने कहा कि शेष मॉड्यूल के काम पर आगे की जांच जारी है.

कुलगाम में पाकिस्‍तानी आतंकी को मारकर सुरक्षाबलों ने टाली थी बड़ी साजिश
जम्मू-कश्मीर में स्वतंत्रता दिवस से पहले राष्ट्रीय राजमार्ग पर हमले की साजिश रच रहे एक पाकिस्तानी आतंकवादी के कुलगाम जिले में बीते शुक्रवार को एक मुठभेड़ में मारे जाने से सुरक्षा बलों को कल भी बड़ी सफलता मिली थी. मारे गए आतंकवादी की पहचान पाकिस्तान के उस्मान के रूप में हुई, जो पिछले छह महीनों से सक्रिय एक ‘खतरनाक आतंकवादी’ था. कुलगाम के मालपोरा क्रॉसिंग के पास आतंकवादियों ने गुरुवार को दोपहर बाद श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग से गुजर रहे बीएसफ के एक काफिले पर हमला कर दिया था. सुरक्षाबालों ने आतंकवादी को एक बिल्डिंग में घेरकर रातभर चली मुठभेड़ में मार गिराया था.  मुठभेड़ स्थल से भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया, जिसमें एक एके-47 राइफल, मैगजीन, ग्रेनेड, आरपीजी-7 रॉकेट लांचर शामिल हैं. आईजीपी विजय कुमार ने बताया कि कहा कि यह दिखाता है कि ‘ वे आतंकवादी कोई बड़ी योजना बना रहे थे.’ उन्होंने कहा, ‘लंबे समय के बाद (कश्मीर में) आरपीजी-7 बरामद किया गया है और पुलिस व
सुरक्षा बलों ने एक बड़ी घटना को टाल दिया है.

कल किश्‍वाड़ से हिज्बुल मुजाहिदीन का आतंकी गिरफ्तार हुआ था
जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले से हिज्बुल मुजाहिदीन के एक आतंकवादी को शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया. अधिकारियों ने बताया कि कुछ दिन पहले आतंकवाद की राह पर निकले मुजम्मिल शाह को पुलिस, सेना और सीआरपीएफ के संयुक्त अभियान में पतिमुहल्ला पालमार के कुलना वन क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया. उन्होंने बताया कि पुलिस ने उसके पास से एक ग्रेनेड, एक मैगजीन और एके-47 राइफल की 30 गोलियां बरामद की है. डेक्चन थाने में एक प्राथमिकी दर्ज की गई है.