जाजपुर (ओडिशा): देश भर में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सब चिंतित है. बलात्कार की संख्या हर रोज बढ़ती ही जा रही है. हैदराबाद, उन्नाव हादसे के बाद से ही कई इलाकों से ऐसी जघन्य अपराधों की खबर आई है. ओडिशा के जाजपुर जिले में पुलिस ने मंगलवार को एक व्यक्ति को 44 वर्षीय महिला से बलात्कार करने के आरोप में गिरफ्तार किया. पुलिस ने बताया कि यह घटना शनिवार रात को एक गांव में हुई और आरोपी को पास के क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया.

छत्तीसगढ़: रायपुर में नर्सिंग कर रहीं दो सगी बहनों का मर्डर, जल्‍द होगा खुलासा

जाजपुर नगर थाने में महिला द्वारा दर्ज करायी गई शिकायत के अनुसार आरोपी ने इस तथ्य को जानते हुए इस अपराध को अंजाम दिया कि वह अपने पति की मृत्यु के बाद घर में अकेली रहती है. स्थानीय पुलिस थाने के प्रभारी आशीष कुमार साहू ने बताया कि आरोपी दरवाजा तोड़कर महिला के घर में घुसा और उससे बलात्कार किया. उसने महिला को इस बारे में किसी को नहीं बताने की धमकी भी दी. उन्होंने बताया कि शिकायत सोमवार रात में दर्ज कराई गई. उन्होंने बताया कि महिला और आरोपी का चिकित्सकीय परीक्षण कराया गया है.

पिता ने 13 साल की बेटी से किया रेप, छेड़छाड़ करने पर पत्नी पहले भी कर चुकी थी पिटाई, अब…

इसी बीच निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्याकांड में मौत की सजा पाए चार दोषियों में से एक अक्षय कुमार सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में मामले को लेकर पुनर्विचार याचिका दायर करते हुए कहा कि दिल्ली गैस चैंबर है, ऐसे मैं मौत की साज देने की क्या जरूरत है. वकील ए.पी.सिंह के माध्यम से दायर समीक्षा याचिका में अक्षय ने कहा, “दिल्ली-एनसीआर में पानी और हवा को लेकर जो कुछ हो रहा है, उससे हर कोई वाकिफ है. जीवन छोटा होता जा रहा है, फिर मृत्युदंड क्यों?”