नई दिल्ली: देश में सुरक्षा बलों ने वर्ष 2018-2020 में 460 नक्सलियों को मार गिराया जबकि इसी अवधि में सुरक्षा बलों के 161 कर्मी भी अपना कर्तव्य निभाते हुए शहीद हो गए. गृह मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले वामपंथी उग्रवाद (एलडब्ल्यूई) प्रभाग ने एक आरटीआई (सूचना का अधिकार) आवेदन के जवाब में यह जानकारी दी है.Also Read - छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का तांडव, सरपंच को घर में घुसकर मारा, JCB में आग लगाई

नोएडा के रहने वाली वकील एवं आरटीआई कार्यकर्ता रंजन तोमर ने आरटीआई के माध्यम से वर्ष 2018-2020 में मारे गए नक्सलियों और शहीद हुए सुरक्षाकर्मियों का ब्योरा मांगा था. हालांकि, आधिकारिक जवाब में नवंबर 2020 तक का ही ब्योरा उपलब्ध कराया गया है. Also Read - पुलिस कार्रवाई से बौखलाए नक्सली, यूपी-बिहार सहित इन राज्यों में बुलाया बंद, कितना होगा असर?

प्रभाग ने अपने जवाब में कहा कि वामपंथी उग्रवाद की घटनाओं में वर्ष 2018 से नवंबर 2020 तक 460 नक्सली मारे गए जबकि सुरक्षा बल के 161 कर्मी भी शहीद हुए. उल्लेखनीय है कि गृह मंत्रालय ने सितंबर 2020 में कहा था कि नक्सली हिंसा की घटनाओं में खासी कमी दर्ज की गई है और अब केवल 46 जिले इस समस्या से प्रभावित हैं. Also Read - नक्सलियों का 'भारत बंद' शुरू, 1 करोड़ के इनामी प्रशांत बोस की गिरफ्तारी का विरोध, रेल पटरियां उड़ाईं

(इनपुट भाषा)