नई दिल्ली: स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन ने शुक्रवार को कहा कि देश के मेडिकल कॉलेजों में इस साल से करीब 4800 सीटें आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के बच्चों के लिए आरक्षित होंगी. यह पूछे जाने पर कि क्या आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों को मिले आरक्षण के आधार पर मेडिकल कॉलेजों में सीटें तय हुई हैं तो हर्षवर्धन ने कहा कि करीब 4800 सीटें आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों के बच्चों के लिए तय हुई हैं.

लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान मोहम्मद जावेद, पिनाकी मिश्रा, अधीर रंजन चौधरी और कुछ अन्य सदस्यों के पूरक प्रश्नों के उत्तर में हर्षवर्धन ने यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार आने के बाद 92 नए मेडिकल कॉलेज खोलने का फैसला हुआ और कई मेडिकल कॉलेज खुल भी चुके हैं. उन्होंने कहा कि पिछले तीन वर्षों में एमबीबीएस की सीटों में 15 हजार की बढ़ोतरी हुई है.

एक अन्य प्रश्न के उत्तर में मंत्री ने कहा कि सरकार विभिन्न स्तरों पर कैंसर अनुसंधान और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस को बढ़ावा देने का पूरा प्रयास कर रही है. कैंसर को लेकर जुड़े पूरक प्रश्न पूछे जाने के दौरान लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि यह बहुत गंभीर विषय है जिस पर आगे सदन में चर्चा कराई जाएगी.