कासगंज. उत्तर प्रदेश के कासगंज में बीती 26 जनवरी को तिरंगा यात्रा के दौरान मारे गए चंदन गुप्ता के परिवारवालों ने अपने बेटे को श्रद्धांजलि देते हुए घर की छत पर 50 फीट ऊंचा तिरंगा फहराया. तिरंगा फहराने के बाद चंदन की मां और अन्य परिजन तिरंगे के नीचे ही बिलख बिलखकर रोने लगे. परिजनों ने इस दौरान चंदन गुप्ता को शहीद का दर्जा दिए जाने की मांग दोहराई.

इससे पहले, मंगलवार को चंदन के परिवार ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ से लखनऊ में मुलाकात की थी. इसी दौरान परिजनों ने सीएम योगी को अपनी मांगों को लेकर तैयार किया गया ज्ञापन भी सौंपा. परिजनों की मांग है कि चंदन ने भारत माता के सम्मान के लिए अपनी जान गंवा दी और इसलिए उसे शहीद का दर्ज दिया जाना चाहिए. हालांकि इसे लेकर परिवार को अभी तक न तो सीएम से कोई जवाब नहीं मिला है. 

कासगंज हिंसा : चंदन की हत्या के दो और आरोपी गिरफ्तार

कासगंज हिंसा : चंदन की हत्या के दो और आरोपी गिरफ्तार

वहीं, चंदन की बहन कीर्ति ने इस दौरान बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग की है कि चंदन के हत्यारों को कड़ी सजा दी जाए. उन्होंने बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने उन्हें आश्वासन दिया कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. परिजनों ने कहा कि अगर चंदन को शहीद का दर्जा नहीं दिया गया तो कोई भी मां अपने बेटे को तिरंगा फहराने के लिए नहीं भेजेगी. परिजनों ने ये मांग भी की कि तिरंगा यात्राएं बंद हो जानी चाहिए.

इससे पहले, बुधवार को गणतंत्र दिवस के मौके पर निकाली गई तिरंगा यात्रा के दौरान हुई हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता की हत्या के दो और आरोपियों को पुलिस ने बुधवार को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस अधीक्षक पीयूष श्रीवास्तव ने बताया कि चंदन हत्या मामले के दो आरोपी वसीम और नसीम को दो तमंचों और कुछ कारतूस सहित गिरफ्तार किया गया. ये दोनों मुख्य आरोपी सलीम के सगे भाई हैं. उन्होंने बताया कि आरोपियों से पूछताछ की जा रही है.