अमरावती: आंध्र प्रदेश पुलिस ने पाकिस्तान के संपर्क वाले एक जासूसी रैकेट का पर्दाफाश करने का शुक्रवार को दावा किया और कहा कि इस सिलसिले में भारतीय नौसेना के सात कर्मी और एक हवाला संचालक को गिरफ्तार किया गया है. देश के विभिन्न हिस्सों से गिरफ्तार किए गए इन आठों व्यक्तियों को विजयवाड़ा में राष्ट्रीय जांच एजेंसी की अदालत में पेश किया गया. अदालत ने उन्हें तीन जनवरी तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

आंध्र प्रदेश पुलिस ने कहा कि उसकी खुफिया शाखा और केंद्रीय खुफिया एजेंसियों के समन्वित प्रयास से इस रैकेट का पर्दाफाश हुआ. उसने हालांकि, विस्तृत ब्योरा देने से इनकार किया.

आंध्र प्रदेश पुलिस की विज्ञप्ति में महज इतना कहा गया है कि उसकी खुफिया शाखा ने केंद्रीय खुफिया एजेंसियों और नौसेना के खुफिया विभाग के साथ मिलकर ‘ऑपरेशन डॉल्फिन्स नोज’ चलाया और इस जासूसी रैकेट का पर्दाफाश किया.

विज्ञप्ति में कहा गया है, प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. देश के विभिन्न हिस्सों से नौसेना के सात कर्मियों और एक हवाला संचालक को गिरफ्तार किया गया है. कुछ अन्य संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है. विज्ञप्ति में विस्तृत जानकारी दिए बगैर बस इतना कहा गया है कि जांच जारी है.

आंध्र प्रदेश पुलिस के एक प्रवक्ता ने कहा कि इस मामले का ब्योरा उपलब्ध नहीं है और हमें बस इतनी ही जानकारी दी गई है.जब इस संबंध में संपर्क किया गया तो पुलिस महानिरीक्षक (खुफिया) मनीष कुमार सिन्हा ने कहा कि उनके विभाग को इस मामले में कुछ भी कहने के लिए अधिकृत नहीं किया गया है. उन्होंने कहा कि हमने सारा विवरण मुख्य जनसंपर्क अधिकारी को दे दिया है. आप उनसे हासिल करें.

जनसंपर्क अधिकारी ने कहा कि दो लाइन के नोट के अलावा अधिक ब्योरा उपलब्ध नहीं कराया गया है.