गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के मुरादनगर में एक सात वर्षीय बच्ची के साथ दरिंदगी का मामला समाने आया है. रविवार को यहां की एक मस्जिद की छत से सात वर्षीय बच्ची का शव बरामद किया गया. शव के पोस्टमार्टम से पता चला कि उसके साथ रेप करने के बाद गला दबाकर उसकी हत्या की गई थी. छत पर शव को एक बोरे में रखा गया था. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने बताया कि बच्ची शनिवार दोपहर करीब एक बजे से अपने घर से लापता थी. उसके परिवार ने मुरादनगर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी.

उन्होंने बताया कि सुलेमान नाम के शख्स ने मस्जिद की छत पर बोरा देखा. वह फज्र की (सुबह) नमाज के बाद करीब साढ़े छह बजे छत पर गया था. कृष्ण ने बताया कि सुलेमान ने बोरे में बच्ची का शव देखा और तुरंत उसके परिवार और पड़ोसियों को सूचित किया. एसएसपी ने बताया कि खबर मिलने के बाद मृतक के पिता और पुलिस मौके पर पहुंची. बच्ची की गला दबा कर हत्या की गई है. कृष्ण ने बताया कि पिता ने अपनी बेटी की हत्या का आरोप स्थानीय पार्षद एजाज बेग पर लगाया है. उनके बीच राजनीतिक रंजीश है. बच्ची के मामा ने बेग के खिलाफ स्थानीय निकाय का चुनाव लड़ा था. उन्होंने बताया कि बेग के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई और मामले की तहकीकात की जा रही है.

गाजियाबाद के मुरादनगर की मस्जिद की छत पर रविवार(सात अक्टूबर) को सात वर्षीय जिस बच्ची का शव मिला था, उसके साथ रेप का खुलासा हुआ है. यह बात पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आई है.बच्ची के परिवारवालों ने स्थानीय पूर्व पार्षद सहित चार लोगों के खिलाफ मुरादनगर थाने में केस दर्ज कराया है. पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए कई जगह दबिश दी।. दो दिन पहले बच्ची का घर के पास से ही अपहरण कर लिया गया और फिर रविवार को बच्ची की लाश मस्जिद की छत से बरामद हुई थी.शव को एक बोरे में रखा गया था.

(इनपुट भाषा)