अहमदाबाद: अहमदाबाद में सात मई से 14 मई के बीच सब्जी विक्रेताओं और दुकानदारों की जांच किए जाने पर कम से कम 700 ‘सुपरस्प्रेडर’ कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. इसके पहले अधिकारियों ने दूध और दवा की दुकानों के अलावा सभी दुकानें बंद करने का आदेश दिया था. एक वरिष्ठ नौकरशाह ने शनिवार को यह जानकारी दी. Also Read - 31 मई के बाद दिल्ली में खुल जाएंगे धार्मिक स्थल और मॉल में दुकानें! दिल्ली सरकार ने दिए संकेत

बड़ी संख्या में लोगों के संपर्क में आने वालों जैसे सब्जी विक्रेताओं को “सुपरस्प्रेडर” नाम दिया गया है क्योंकि वे कई लोगों को संक्रमित करने की क्षमता रखते हैं. ऐसे लोगों में सब्जी विक्रेता, किराना और दूध की दुकान के मालिक, पेट्रोल पंप कर्मी या कचरा बीनने वाले भी हो सकते हैं जो अपने काम के कारण संक्रमण के प्रसार का जोखिम उठाते हैं. Also Read - यूपी में कोरोना के 275 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 7,445 हुआ, बढ़ी मृतकों की संख्‍या

अहमदाबाद में कोविड-19 के मामलों पर संज्ञान लेने के लिए नियुक्त अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव गुप्ता ने कहा, ‘‘एक सप्ताह में कुल 33,500 सुपर स्प्रेडरों में से 12,500 (उनमें से)लोगों की जांच की गई जिनमें से 700 सुपरस्प्रेडर संक्रमित पाए गए और उन्हें पृथक-वास में भेज दिया गया.” अहमदाबाद में सात मई से आवश्यक वस्तुओं की दुकानें भी बंद कर दी गई थीं जिन्हें कुछ दिन बाद कुछ शर्तों के साथ खोल दिया गया. Also Read - 1 जून से ट्रेनों में टीटीई ड्रेस में नहीं आएंगे नजर, नई गाइडलाइंस को रेल यात्री भी जरूर जान लें

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा,‘‘ किराने की दुकानों और सब्जी विक्रेताओं को 15 मई से अपने व्यवसाय को फिर से शुरू करने की अनुमति दी गई थी, बशर्ते उनके पास स्वास्थ्य जांच कार्ड हो. एक सप्ताह में 12,500 लोगों की जांच के बाद कम से कम 700 ‘सुपर स्प्रेडरों’ को पृथक कर दिया गया है.’’

इससे पहले 20 अप्रैल को शुरु किए गए जांच अभियान में 350 सुपरस्प्रेडर संक्रमित पाए गए थे. उन्होंने लोगों से अपील की कि वे केवल स्वास्थ्य जांच कार्डधारक विक्रेताओं या दुकानदारों से ही सामान खरीदें. उन्होंनें बताया कि इन सुपरस्प्रेडरों को हर 14 दिन के बाद अपना कार्ड नवीनीरण कराना होगा.

(इनपुट भाषा)