इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने आज बुधवार को बताया कि महामारी की दूसरी लहर के दौरान कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में 730 डॉक्टरों की जान चली गई. इसमें बिहार में सबसे अधिक 115 डॉक्टरों की मौत हुई. इसके बाद में दिल्ली (109), उत्तर प्रदेश (79), पश्चिम बंगाल (62), राजस्थान (43), झारखंड (39), आंध्र प्रदेश (38), तेलंगाना (37), गुजरात (37) और ओडिशा में 31 डॉक्टरों की मौत हुई.Also Read - Coronavirus की दूसरी लहर के दौरान देश में 624 डॉक्टरों की मौत हुई: IMA

कोरोना की दूसरी लहर में तमिलनाडु में 32, असम में 09, छत्तीसगढ़ में 05, गोवा में 2, हरियाणा में तीन, जम्मू-कश्मीर में तीन, कर्नाटक में 9, केरल में 24, मध्य प्रदेश में 16, महाराष्ट्र में 23, मणिपुर में 05, पुडुचेरी में 01, पंजाब में तीन, त्रिपुरा में दो, उत्तराखंड में दो और अन्य जगह एक डॉक्टर की मौत हो गई. Also Read - मुश्किल में घिरे बाबा रामदेव, IMA ने कहा-मुकदमा दर्ज कर हो सख्त कार्रवाई या बंद कर दें Allopathy इलाज

आईएमए ने कहा कि पिछले साल महामारी की पहली लहर के दौरान कुल 748 डॉक्टर घातक वायरस के शिकार हुए थे. भारत पिछले कुछ महीनों से कोरोना वायरस के मामलों में भारी उछाल से जूझ रहा है जबकि मामलों की दैनिक संख्या कम हो गई है, मौतों की संख्या अधिक बनी हुई है. Also Read - कोरोना वायरस की दूसरी लहर में कोरोना से 420 डॉक्टरों की जान गई, 100 की मौत दिल्‍ली में हुई : IMA

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार भारत में एक दिन में कोविड-19 के 62,224 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,96,33,105 हो गई. वहीं 70 दिन बाद उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी नौ लाख से कम हो गई है. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, 2,542 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 3,79,573 हो गई है.

वहीं उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 8,65,432 हो गई है, जो कुल मामलों का 2.92 प्रतिशत है. पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मामलों में कुल 47,946 की कमी आई है. मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर भी बढ़कर 95.80 प्रतिशत हो गई है.

आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कुल 38,33,06,971 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई है, जिनमें से 19,30,987 नमूनों की जांच मंगलवार को की गई. दैनिक संक्रमण दर 3.22 प्रतिशत है. पिछले नौ दिन से यह दर पांच प्रतिशत से कम बनी हुई है. वहीं, संक्रमण की साप्ताहिक दर भी कम होकर 4.17 प्रतिशत हो गई है. संक्रमण मुक्त हुए लोगों की संख्या लगातार 34वें दिन संक्रमण के नए मामलों से अधिक रही. (एजेंसी इनपुट्स)