75 Vande Bharat trains, India, Amrit Mahotsav, Independence: PM Modi प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने आज रविवार 75वें स्‍वतंत्रता दिवस (75th Independence Day) पर कहा कि देश ने संकल्प लिया है कि आजादी के अमृत महोत्सव (Amrit Mahotsav of Independence) के 75 सप्ताह में 75 वंदेभारत ट्रेनें देश के हर कोने को आपस में जोड़ रही होंगी. पीएम मोदी ने कहा, आज जिस गति से देश में नए Airports का निर्माण हो रहा है, उड़ान योजना दूर-दराज के इलाकों को जोड़ रही है, वो भी अभूतपूर्व है.Also Read - कोहली के कप्तानी छोड़ने से फैसले से हैरान हुए पठान; कहा- अगर भारत टी20 विश्व कप जीत गया तो क्या होगा?

Also Read - SCO समिट: PM मोदी ने बढ़ती कट्टरपंथी विचारधारा को लेकर चेताया, अफगानिस्तान का उदाहरण दिया

रविवार को तिरंगा फहराने के बाद लाल किले की प्राचीर से अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश आज से अपनी आजादी के 75वें साल में प्रवेश कर रहा है और यहां से आजादी के 100 वर्षों तक का सफर भारत के सृजन का अमृतकाल है. उन्होंने कहा कि सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास और सबके प्रयास से इस लक्ष्य को हासिल करना है. Also Read - विदेश मंत्री एस जयशंकर ने चीनी समकक्ष वांग यी से की मीटिंग, पूर्वी लद्दाख में सैनिकों की वापसी पर चर्चा की

पीएम मोदी ने कहा, भारत को आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ ही इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण में होलिस्टिक अप्रोच अपनाने की भी जरूरत है. भारत आने वाले कुछ ही समय में प्रधानमंत्री गतिशक्ति- नेशनल मास्टर प्लान को लॉन्च करने जा रहा है.

लाल किले में पीएम मोदी ने कहा, आने वाले दिनों में, हम पीएम गति शक्ति योजना, 100 लाख करोड़ का राष्ट्रीय बुनियादी ढांचा मास्टर प्लान लॉन्च करेंगे, जो समग्र बुनियादी ढांचे की नींव बनाएगा और हमारी अर्थव्यवस्था को एक एकीकृत मार्ग प्रदान करेगा.

पीएम मोदी ने कहा- भारत आज अपना लड़ाकू विमान बना रहा है, सबमरीन बना रहा है, गगनयान भी बना रहा है. विकास के पथ पर आगे बढ़ते हुए भारत को अपनी मैन्यूफैक्चरिंग और एक्सपोर्ट, दोनों को बढ़ाना होगा. आपने देखा है, अभी कुछ दिन पहले ही भारत ने अपने पहले स्वदेशी एयरक्राफ्ट कैरियर INS विक्रांत को समुद्र में ट्रायल के लिए उतारा है.

पीएम मोदी ने कहा, मैं इसलिए मनुफक्चरर्स को कहता हूं, ” आपका हर एक प्रॉडक्ट भारत का ब्रैंड एंबेसेडर है. जब तक वो प्रॉडक्ट इस्तेमाल में लाया जाता रहेगा, उसे खरीदने वाला कहेगा – हां ये मेड इन इंडिया है.