नई दिल्लीः केंद्र सरकार ने आज कैबिनेट की बैठक में कई बड़े फैसले लिए. कोरोना वायरस की वजह से जहां एक ओर दुनियाभर के आर्थिक हालात मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं वहीं आज की बैठक में सरकार ने लाखों कर्मचारियों के लिए एक बड़ा फैसला लिया है. केंद्र की मोदी सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनधारकों (Pensioner) के लिए 4 फीसदी महंगाई भत्ता (Dearness Allowances) भी बढ़ाने को मंजूरी दे दी. Also Read - राष्ट्रपति, उप राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री सहित इन लोगों के वेतन में कटौती, कोरोना के खिलाफ लड़ाई में इस्तेमाल किया जाएगा यह पैसा

सरकार के आज के फैसले के बारे में कई महीनों से चर्चा चल रही थी. इस फैसले का फायदा वर्तमान समय में काम कर रहे 48 लाख केंद्रीय कर्मचारियों और लगभग 65 लाख रिटायर्ड कर्मचारियों को भी मिलेगी. इन कर्मचारियों में सेना और सुरक्षाबलों के कर्मचारी शामिल नहीं हैं. एक जनवरी से महंगाई भत्ता बढ़ाया गया है. डीए में 4 फीसदी की बढ़ोतरी होने से कर्मचारियों की सैलरी में 720 रुपये से 10,000 रुपये प्रति माह की बढ़ोतरी होने का अनुमान है. Also Read - वैश्विक स्तर पर बिकवाली से सेंसेक्स 894 अंक डूबा, 55 प्रतिशत नुकसान में येस बैंक के शेयर

मंहगाई भत्ते के साथ साथ सरकार ने 3 करोड़ इंडस्ट्रियल वर्करों (Industrial Workers) की सैलरी बढ़ाने के फॉर्मूले में भी बदलवा किया है. अब इन कर्मचारियों की सैलरी 6 महीनें में बढ़ा करेगी. आपको बता दें कि इससे पहले 2019 के अंत में भी एक बार केंद्र सरकार ने केंद्रीय कर्मियों का मंहगाई भत्ता बढ़ाया था.